सांसदों के निलंबन के विरोध में INDIA Alliance का हल्लाबोल, धरने पर बैठे विपक्ष ने मोदी-शाह के खिलाफ भरी हुंकार

New Delhi: विपक्षी सांसदों के निलंबन के विरोध में आईएनडीआईए घटक दलों के नेताओं ने आज जंतर-मंतर पर प्रदर्शन किया। इस दौरान विपक्षी दलों के नेता मौजूद रहे।
INDIA Alliance
INDIA AllianceRaftaar.in

नई दिल्ली, हि.स.। विपक्षी सांसदों के निलंबन के विरोध में आईएनडीआईए घटक दलों के नेताओं ने आज यहां जंतर-मंतर पर प्रदर्शन किया। इस दौरान कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, राहुल गांधी, एनसीपी प्रमुख शरद पवार, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) के महासचिव सीताराम येचुरी और राजद सांसद मनोज झा सहित अन्य विपक्षी दलों के नेता मौजूद रहे।

PM और गृह मंत्री ने देश के लोकतंत्र और संविधान को खत्म करने का बीड़ा उठाया

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी और केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने देश के लोकतंत्र और संविधान को खत्म करने का बीड़ा उठाया है। ये लोग दलितों, मजदूरों, महिलाओं और किसानों को कुचलने का काम कर रहे हैं। इसलिए हमने देश को बचाने के लिए आईएनडीआईए गठबंधन बनाया है।

लोकतंत्र को बचाने के लिए विपक्ष एकजुट है

खड़गे ने आगे कहा कि उच्च संवैधानिक पद पर बैठे लोग कहते हैं, ''मैं इस जाति का आदमी हूं, इसलिए मुझे अपमानित कर रहे हैं।'' हमें सदन में नोटिस तक नहीं पढ़ने दिया जाता, तो क्या मैं ये कहूं कि मोदी सरकार दलित को बोलने भी नहीं देती! एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा कि लोकतंत्र को बचाने के लिए विपक्ष एकजुट है। इसके लिए हम कोई भी कीमत चुकाने को तैयार हैं।

लोकतंत्र की हत्या हो गई

समाजवादी पार्टी के सांसद राम गोपाल यादव ने कहा कि सांसदों का निलंबन अलोकतांत्रिक है। विपक्ष को बोलने से रोका जा रहा है। राजद सांसद मनोज झा ने कहा कि "लोकतंत्र की हत्या हो गई है। अब विपक्ष को मिलकर लोकतंत्र को पुनर्जीवित करना है।

हमें उन लोगों से लोकतंत्र को बचाने की जरूरत है, जो वर्तमान में सत्ता में हैं

सीपीआई (एम) नेता सीताराम येचुरी ने कहा कि हमें उन लोगों से लोकतंत्र को बचाने की जरूरत है, जो वर्तमान में सत्ता में हैं। संसद में सुरक्षा चूक मुद्दे पर सरकार को जवाब देना चाहिए। उल्लेखनीय है कि संसद में हुई सुरक्षा चूक को लेकर दोनों सदन में प्रदर्शन कर रहे विपक्ष के 146 सांसदों को निलंबित कर दिया गया था। उसके विरोध में आईएनडीआईए घटक दलों ने आज देशव्यापी प्रदर्शन किया।
अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.