Farmers Protest:'दिल्ली चलो' नारे के साथ बॉर्डर पर डटे किसान, बातचीत रही बेनतीजा; यहां जानें कहां क्या है हाल?

Farmers Protest: पंजाब और हरियाणा के किसान अपनी मांगों को लेकर दिल्ली कूच के लिए तैयार किसानों के 'दिल्ली चलो' मार्च को पंजाब और हरियाणा के शंभू बॉर्डर पर रोक लिया गया है।
Farmers Protest
Farmers ProtestRaftaar

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। पंजाब और हरियाणा के किसान अपनी मांगों को लेकर दिल्ली कूच के लिए तैयार किसानों के 'दिल्ली चलो' मार्च को पंजाब और हरियाणा के शंभू बॉर्डर पर रोक लिया गया है। दिल्ली की सीमाओं पर किसान और पुलिसकर्मियों के बीच लगातार झड़प हो रही है। इस संघर्ष में बीते दिनों पुलिस के कई जवान और कई प्रदर्शनकारी किसान भी घायल हुए है। किसान लगातार दिल्ली आने की जिद पर अड़े है। लेकिन दिल्ली में किसानों के प्रदर्शन को रोकने के लिए प्रशासन ने कड़ी सुरक्षा कर रखी है।

दिल्ली में 15 मार्च तक धारा 144 लागू

पंजाब और हरियाणा के शंभू बॉर्डर पर सीसीटीवी और ड्रोन से निगरानी की जा रही है। आज प्रदर्शन के दुसरे दिन भी किसान दिल्ली में प्रवेश करने की कोशिश कर रहें है। और प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए सीमाओं पर बैरिकेडिंग की गई है। आंदोलन के दूसरे दिन भी सीमाओं पर जवानों का कड़ा पहरा बना है। दिल्ली में 15 मार्च तक धारा 144 लागू कर दी गई है। हरियाणा के 7 जिलों में 5 फरवरी तक इंटरनेट पर बैन कर लगा दिया है। बीते दिन किसानों की जवानों के साथ झड़प भी हुई थी। जिसमें कई जवान और किसान घायल हुए।

चंडीगढ़ में 5 घंटे चली थी बातचीत

आपको बता दें किसानों ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) की गारंटी को लेकर कानून बनाने समेत अपनी और कई मांगों को स्वीकार कराने के लिए विरोध प्रदर्शन का आह्वान किया है। इसको लेकर किसानों और केंद्रीय मंत्रियों के बीच चंडीगढ़ में 5 घंटे तक बातचीत भी हुई थी। लेकिन इस बातचीत का कोई नतीजा नहीं निकला था। बातचीत के बेनतीजा होने के बाद 12 फरवरी को किसान नेताओं ने ‘दिल्ली चलो’ की घोषणा कर दी थी। उसके बाद से किसानों और जवानों के बीच लगातार झड़ाप देखने को मिली है।

15 फरवरी को दोपहर 12:00 बजे से लेकर 4:00 बजे तक रेलवे ट्रैक होगा जाम

किसानों पर हो रहीं कार्रवाई को देखते हुए पंजाब के कुछ और किसान संगठन अब इन किसानों का समर्थन करने का मन बना रहें है। इसके लिए पंजाब के सबसे बड़े किसान संगठन भारतीय किसान यूनियन उग्रहा ने ऐलान किया है कि पंजाब भर में कल 15 फरवरी को दोपहर 12:00 बजे से लेकर 4:00 बजे तक रेलवे ट्रैक जाम किए जाएंगे। शंभू बॉर्डर पर आंसू गैस छोड़े जाने से भारतीय किसान यूनियन उग्रहा नाराज है। उन्होंने दिल्ली जा रहे किसानों को रास्ते में रोकने उनके ऊपर आंसू गैस छोड़ने और लाठी चार्ज के विरोध में यह फैसला लिया है।

बॉर्डर पर सुरक्षाकर्मी तैनात, कंक्रीट की बनी दीवार

किसानों के दिल्ली चलो मार्च के मद्देनजर प्रशासन ने सिंघू बॉर्डर पर सुरक्षा बढ़ा दी है। सीमा पर और सुरक्षाकर्मी तैनात कर दिए हैं। इसके साथ ही गाजीपुर सीमा पर कड़ी सुरक्षा की गई है। टिकरी बॉर्डर पर दिल्ली की तरफ भी दिल्ली पुलिस की ओर से कंक्रीट की दीवार बनाई गई है। आधी रात से ही करीब 40 कामगारों ने यहां पर कंक्रीट भरकर दीवार बनाने का काम किया। पुलिस की ओर से किसानों को किसी भी सूरत में दिल्ली में प्रवेश करने से रोकना है। इसके लिए सीमेंट और कंक्रीट से 5-7 फीट ऊंची 100 फ़ीट से ज्यादा लंबी दीवार बनाई जा रही है।

शंभू बॉर्डर पर फिर बिगड़े हालात

हरियाणा के शंभू बॉर्डर पर हालात एक बार फिर बिगड़े हुए है। एक ओर जवान तो दूसरी ओर किसान खड़े हुए हैं। जैसे ही किसान आगे बढ़ने की कोशिश करते हैं वैसे ही पुलिस और पैरामिलिट्री फोर्स की ओर से आंसू गैस के गोले दागे जा रहे हैं। कृषि मंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि मैं विभिन्न किसान संगठनों के नेताओं से आग्रह कर रहा हूं कि हम पर संभव मदद के लिए बातचीत कर सकते है। सरकार इसको लेकर प्रतिबद्ध है। हमने उन्हें आश्वासन दिया है कि प्रशासन से जुड़े कार्यों में तेजी लाई जाएगी, लेकिन नए कानून बनाने में अभी बहुत बातों पर विचार करना है। आने वाले दिनों में हम किसान संगठनों से चर्चा करना चाहते हैं।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.