किसानों ने फिर दिल्ली कूच, 13 फरवरी को करेंगे चक्का जाम; नोएडा में धारा 144 लागू

किसान आंदोलन स्थगित होने के बाद भी किसानो की मांग पूरी नहीं हुई है। जिसे लेकर किसान दिल्ली में 13 फरवरी को जंतर मंतर में कूच करेंगे। किसानों ने कहा है कि हम अपनी मांग पूरी न होने तक डटे रहेंगे।
Kisan Aandolan Delhi
Kisan Aandolan Delhi Social media

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। लोकसभा चुनाव से पहले किसान आंदोलन का जिन्न एक बार फिर से बाहर निकल आया है। संयुक्त किसान मोर्चा और किसान मजदूर मोर्चा ने संयुक्त रूप से एक बार फिर दिल्ली कूच करने का मन बना लिया है। किसानों का कहना है कि सरकार ने 4 साल पहले 2020 में जो वादे किए थे वह अभी तक पूरे नहीं किए हैं इसलिए हम 13 फरवरी को दिल्ली कूच करने का प्लान कर रहे हैं। हम जंतर मंतर पर धरना देंगे। इस बीच किसानों अपने धरने और प्रदर्शन की तैयारी को तेज कर दिया है।

किसानों ने सरकार पर लगाया आरोप

किसान समूह अपनी मांगों को लेकर राज्य सरकार और स्थानीय प्रशासन पर दबाव बनाने के लिए 7 फरवरी को महापंचायत बुलाई है। वहीं  8 फरवरी को किसान राजधानी दिल्ली में संसद तक विरोध मार्च निकालने का एलान किया है। जिसे देखते हुए राज सरकार ने ग्रेटर नोएडा और नोएडा में सुरक्षा व्यवस्था को देखते 7 और 8 फरवरी को  हुए धारा 144 लगा दी है। किसानों ने आगे कहा कि हमने आंदोलन की तैयारी पूरी कर ली है। हरियाणा में तमाम जिलों में किसानों की तरफ से ट्रैक्टर मार्च निकालकर किसानों को जागरूक किया जा रहा है। हम पीछे नहीं हटेंगे।  जब तक सरकार हमारी मांग पूरी नहीं करती। डटे रहेंगे।  अगर हमें कोई कुर्बानी भी देनी होगी तो हम कुर्बानी देने से पीछे नहीं हटेंगे।

किसानों  की मांग क्या है ?

किसानों ने राज्य सरकार को स्पष्ट कर दिया है कि वह उनकी मांगों को पूरा कर दे।  हम वापस लौट जाएंगे। दरअसल किसानों की मांग यह है कि नोएडा और ग्रेटर नोएडा मैं किसानों का समूह दिसंबर 2023 से स्थानीय विकास प्राधिकरण की ओर से अधिग्रहित अपनी जमीन के बदले बड़े हुए मुआवजे और विकसित भूखंडों की मांग कर रहा है। सरकार ने अभी तक इस पर कोई जवाब नहीं दिया है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें- Hindi News Today: ताज़ा खबरें, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, आज का राशिफल, Raftaar - रफ्तार:

Related Stories

No stories found.