Corona Update: दिल्ली में कोरोना के दो नए मामले आए सामने, अस्पतालों में बढ़ाई गई सतर्कता; अब तक 6 की मौत

Coronavirus Cases in India: देश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना के 702 नए मामले सामने आए हैं और इससे 6 मरीजों की मौत हो गई है।
Coronavirus Cases in India
Coronavirus Cases in IndiaRaftaar

नई दिल्ली, (हि.स.)। देश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना के 702 नए मामले सामने आए हैं और इससे 6 मरीजों की मौत हो गई है। गुरुवार को स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक मौजूदा समय में देश में 4150 एक्टिव मामले हैं। कोरोना से 692 मरीज स्वस्थ हुए हैं। इसके साथ दिल्ली में कोरोना के दो नए मामले सामने आए हैं। इन मरीजों के सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए हैं।

जांच की संख्या बढ़ा दी गई है- सौरभ भारद्वाज

इससे पहले दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली में कोरोना के जेएन.1 वेरियंट का फिलहाल कोई नया मामला सामने नहीं आया है। उन्होंने कहा कि जांच की संख्या बढ़ा दी गई है। बुधवार को निजी और सरकारी अस्पतालों में संयुक्त रूप से 636 परीक्षण किए गए। तीन जीनोम अनुक्रमण परिणाम प्राप्त हुए, जिनमें से दो पुराने ओमीक्रॉन वेरिएंट थे और एक जेएन.1 था।

एम्स ने किया दिशा-निर्देश जारी

इस बीच दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ने देश में कोरोना वायरस के मामलों में अचानक वृद्धि के बाद अस्पतालों में रिपोर्ट किए जाने वाले कोरोना संदिग्ध या सकारात्मक मामलों के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। अस्पतालों में ओपीडी में आने वाले लोगों को मास्क पहनने की सलाह दी गई है।

6 मरीजों की हुई मौत

उल्लेखनीय है कि गुरुवार को देश में कोरोना के 702 नए मामले सामने आए हैं और इससे 6 मरीजों की मौत दर्ज की गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक मौजूदा समय में देश में 4150 एक्टिव मामले हैं। कोरोना से 692 मरीज स्वस्थ हुए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक दिल्ली में कोरोना के 9 नए मामले सामने आए हैं और एक की मौत हुई है।

नए वेरियंट जेएन.1 के मामले भी तेजी से बढ़ रहे

देश में कोरोना के नए मामलों के साथ नए वेरियंट जेएन.1 के मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं। इसको देखते हुए केन्द्र सरकार ने सभी राज्यों से सतर्कता बढ़ाने की अपील की है। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. भारती पवार ने मीडिया से बातचीत में कहा कि जेएन.1 वेरियंट से चिंता की बात नहीं है लेकिन सावधानी बरतने की जरूरत है। उन्होंने बताया कि हाल ही में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मांडविया ने सभी राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों के साथ बैठक की है और सभी राज्यों को निगरानी बढ़ाने के साथ जीनोम सीक्वेंसिंग की जांच की संख्या बढ़ाने को कहा है। कोरोना पर पहले से ही सभी राज्यों के पास प्रोटोकॉल है, जिसमें सारे निर्देश दिए गए हैं।

नागरिकों को सतर्कता बढ़ाने के निर्देश दिए गए

डॉ. भारती पवार ने कहा कि कोरोना के मरीज और वरिष्ठ नागरिकों को सतर्कता बढ़ाने के निर्देश दिए गए हैं। राज्यों में परीक्षण और जीनोम अनुक्रमण बढ़ा दिया गया है। वरिष्ठ नागरिकों को सावधानी बरतनी चाहिए। जेएन.1 कोरोना का उप वेरियंट है इसलिए चिंता करने की कोई ज्यादा जरूरत नहीं है, लेकिन सावधानी बरती जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि जिन राज्यों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं, वहां स्वास्थ्य मंत्रालय भी निगरानी रख रहा है। विशेषकर केरल में स्थिति की निगरानी की जा रही है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.