लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर कांग्रेस ने घोषित की 'नारी न्याय' गारंटी, जानें महिलाओं के लिए खड़गे के 5 बड़े ऐलान

Nyay Nari Guarantee: कांग्रेस पार्टी ने बुधवार को सत्ता में आने पर महिलाओं को पांच गारंटी देने का वादा किया है।
Mallikarjun Kharge
Mallikarjun Khargeraftaar.in

नई दिल्ली, (हि.स.)। कांग्रेस पार्टी ने बुधवार को सत्ता में आने पर महिलाओं को पांच गारंटी देने का वादा किया है। इसमें गरीब महिलाओं को सालाना एक लाख रुपये और केन्द्र सरकार की नौकरियों में महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण दिया जाना शामिल है।

पार्टी ने ‘नारी न्याय’ की घोषणा की है: मल्लिकार्जुन खड़गे

कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने आज सोशल मीडिया पर इसकी जानकारी देते हुए कहा कि उनकी पार्टी ने ‘नारी न्याय’ की घोषणा की है।

नारी न्याय गारंटी के अन्तर्गत कांग्रेस पार्टी 5 घोषणाएँ कर रही है

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी आज “नारी न्याय” गारंटी की घोषणा करती है। इसके तहत कांग्रेस पार्टी महिलाओं के लिए देश में एक नया एजेंडा सेट करने जा रही है। नारी न्याय गारंटी के अन्तर्गत कांग्रेस पार्टी 5 घोषणाएँ कर रही है।

  • उसमें पहली गारंटी है महालक्ष्मी गारंटी। इसके तहत इसके तहत सभी गरीब परिवार की एक महिला को सालाना 1 लाख रुपये की सहायता दी जाएगी।

  • दूसरी गारंटी -आधी आबादी -पूरा हक़ - इसके तहत केंद्र सरकार की नयी नियुक्तियों में आधा हक महिलाओं को मिलेगा।

  • तीसरा शक्ति का सम्मान- इस योजना के तहत आंगनवाड़ी, आशा और मिड डे मील कर्मियों के मासिक वेतन में केंद्र सरकार का योगदान दोगुना होगा।

  • अधिकार मैत्री - इसके तहत हर पंचायत में महिलाओं को उनके हकों के लिए जागरूक करने और जरूरी मदद के लिए अधिकार मैत्री के रूप में एक पैरा- लीगल यानी क़ानूनी सहायक की नियुक्ति की जाएगी।

  • पांचवीं गारंटी- सावित्री बाई फुले हॉस्टल भारत सरकार देश भर में सभी जिला मुख्यालयों में कम से कम एक कामकाजी महिलाओं का होस्टल बनाएगी और पूरे देश में इन होस्टल की संख्या दोगुनी की जाएगी।

हमारा कहा पत्थर की लकीर होती है

खड़गे ने कहा कि इसके पहले हमने भागीदारी न्याय, किसान न्याय और युवा न्याय घोषित किए हैं और ये कहने की ज़रूरत नहीं कि हमारी गारंटी खोखले वादे और जुमले नहीं होते। हमारा कहा पत्थर की लकीर होती है। यही हमारा 1926 से अब तक का रिकॉर्ड है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.