Delhi Liquor Policy: दिल्ली आबकारी नीति घोटाले का पूरा कच्चा चिट्ठा, यहां जानें 2021 से 2024 तक पूरी टाइमलाइन

Delhi Liquor Scam: दिल्ली शराब घोटाला मामले में ED ने 21 मार्च को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार कर लिया। यह केंद्रीय एजेंसी की अब तक की सबसे बड़ी गिरफ्तारी है।
Delhi Liquor Policy: दिल्ली आबकारी नीति घोटाले का पूरा कच्चा चिट्ठा, यहां जानें 2021 से 2024 तक पूरी टाइमलाइन
raftaar.in

नई दिल्ली,रफ्तार डेस्क। दिल्ली शराब घोटाला मामले में ED ने 21 मार्च को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार कर लिया। यह केंद्रीय एजेंसी की अब तक की सबसे बड़ी गिरफ्तारी है। ईडी की इस मामले में यह कोई पहली गिरफ्तारी नहीं है। इससे पहले केंद्रीय एजेंसी ने दिल्ली के तत्कालीन उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, राज्यसभा सांसद संजय सिंह और तेलंगाना के पूर्व सीएम चंद्रशेखर राव की बेटी के. कविता को गिरफ्तार किया था।

क्या है दिल्ली आबकारी घोटाला?

दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार ने नवंबर 2021 में नई आबकारी नीति का ऐलान किया था। इसको अमल में लाने के लिए दिल्ली सरकार ने राजधानी में 32 जोन बनाये थे। दिल्ली सरकार ने एक जोन में 27 दुकानें खोलने की योजना बनाई थी। इस नीति के अनुसार राजधानी में 849 शराब की दुकानें खोली जानी थी। इसके साथ ही केजरीवाल सरकार ने सरकारी ठेको को बंद कर दिया और इन दुकानों को प्राइवेट कर दिया। केजरीवाल सरकार ने ऐसा करने के पीछे का कारण दिल्ली सरकार को 3500 करोड़ रुपए से अधिक का फायदा होगा बताया था।

कैसे शुरू हुई जांच?

जैसे ही केजरीवाल सरकार ने नई आबकारी नीति को लागू किया तो दिल्ली के मुख्य सचिव ने जुलाई 2022 में इसमें कुछ अनियमितता पाई और इसकी जानकारी दी। इसके तुरंत बाद दिल्ली के उपराज्यपाल ने नई आबकारी नीति में नियमों के उल्लंघन के खिलाफ आवाज उठायी और सीबीआई की जांच की मांग की। इसके अगले महीने सितंबर 2022 से केंद्रीय जांच एजेंसी ने अपनी जांच के बाद शराब घोटाला मामले में गिरफ्तारी करना शुरू कर दिया था। केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने सितंबर 2022 में आम आदमी पार्टी के संचार प्रमुख और शराब नीति से जुड़े विजय नायर को गिरफ्तार किया था। नायर अरविंद केजरीवाल के करीबी मानें जाते हैं। इसके बाद इस मामले में हैदराबाद के कारोबारी अभिषेक बोइनपल्ली को गिरफ्तार किया गया। वह 18 महीने हिरासत में रहे, जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में सुनवाई करते हुए उन्हें 5 हफ्ते की अंतरिम जमानत दे दी है। सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें केंद्रीय एजेंसी ED के अधिकारीयों के साथ संपर्क में रहने के निर्देश दिए हैं। इसके बाद केंद्रीय एजेंसी ने बड़े शराब कारोबारी समीर महेंद्रू को गिरफ्तार किया।

2023 में हुई सबसे ज्यादा गिरफ्तारी

शराब घोटाला मामले में साउथ ग्रुप के मुख्य सदस्य पी सरथ चंद्रा को भी जेल हुई। उनके साथ ही बिनोय बाबू जो कार्टेलाइजेशन एंड पर्नोड रिसर्ड ब्रैंड से जुड़े हुए थे, वह भी गिरफ्तार हुए। शराब घोटाला मामले में अमित अरोड़ा भी गिरफ्तार हुआ, जो इस मामले में मिडिल मैन माना जाता है। इन लोगो को वर्ष 2022 में गिरफ्तार किया गया था। वहीं वर्ष 2023 में सबसे अधिक गिरफ्तारी हुई, जिसमे केंद्रीय एजेंसी ने गौतम मल्होत्रा, राघव मंगुटा, राजेश जोशी, अमन ढाल, अरुण पिल्लई, मनीष सिसोदिया, दिनेश अरोड़ा और संजय सिंह को गिरफ्तार किया। वहीं इस साल 2024 में दो बड़ी गिरफ्तारी हुई है, जिसमे अरविंद केजरीवाल का नाम और तेलंगाना के पूर्व सीएम के चंद्रशेखर राव की बेटी के. कविता का नाम शामिल है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.