मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा 'चुनाव के दौरान हिंसा बर्दाश्त नहीं', नौकरशाहों को दी निष्पक्ष रहने की हिदायत

Loksabha Election 2024: सभी राजनीतिक दलों और देशवासियों को आगामी लोकसभा चुनाव का बड़ी बेसब्री से इंतजार है, इसी को लेकर चुनाव आयोग आज 5 मार्च को एक प्रेस कांफ्रेंस करने वाला है।
Election Commission
Election Commissionraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। मुख्य चुनाव आयुक्त श्री राजीव कुमार ने बंगाल दौरे की रिपोर्ट साझा करते हुए बताया कि राज्य में चुनाव बिना किसी डर और हिंसा के कराने के लिए उन्होंने पूरे इंतजाम कर लिए है। जिसके लिए राज्यों के सभी डीएम और एसपी की जिम्मेदारी निर्धारित कर दी गई है। अगर वे इस कार्य को सही से करते हैं तो ठीक है, नहीं तो आयोग उनसे ये कार्य सही से करवाएगा। मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि इसके लिए राज्य के सभी राजनीतिक दलों से सुझाव मांगा गया और उसका जवाब भी दिया गया। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में बिना किसी डर और हिंसा के चुनाव हो इसके लिए पूरी तैयारी कर लिए गयी है।

लोकसभा चुनाव की तारीखों को लेकर अभी किसी तरह का ऐलान नहीं किया

सभी राजनीतिक दलों और देशवासियों को आगामी लोकसभा चुनाव का बड़ी बेसब्री से इंतजार है, इसी को लेकर सभी की चुनाव आयोग की आज 5 मार्च को हुई प्रेस कांफ्रेंस में नजर थी। जिसको लेकर उम्मीद लगायी की जा रही थी कि चुनाव आयोग लोकसभा चुनाव 2024 की तारीखों का भी ऐलान कर सकता है। लेकिन चुनाव आयोग ने लोकसभा चुनाव की तारीखों को लेकर अभी किसी तरह का ऐलान नहीं किया है।

लोकसभा 2024 का चुनाव 7-8 चरणों में हो सकते हैं

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार चुनाव आयोग की टीम बंगाल दौरे पर है। जिसकी तैयारियों की जानकारी प्रेस कांफ्रेंस में साझा की गयी। सूत्रों के अनुसार चुनाव आयोग अगले सप्ताह लोकसभा चुनाव 2024 की तारीखों की घोषणा कर सकता है। आयोग इस सप्ताह के बाद कभी भी लोकसभा चुनाव की घोषणा कर सकता है। साथ ही सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार लोकसभा 2024 का चुनाव 7-8 चरणों में हो सकते हैं।

आयोग चुनाव को सफलतापूर्वक करवाने के लिए AI के इस्तेमाल की योजना बना रहा है

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार चुनाव आयोग पूरी तरह से चुनाव की तैयारी में लगा हुआ है और कहीं भी किसी तरह की कोई कमी नहीं छोड़ना चाहता है। इसके लिए वह कई राज्यों के दौरे करने में लगे हुए है। अभी चुनाव आयोग बंगाल के दौरे में है और इसके बाद वे यूपी और जम्मू-कश्मीर का दौरा करेंगे। उनका राज्यों का यह दौरा 13 मार्च से पहले पूरे होने की पूरी संभावना है। चुनाव आयोग का लगभग सभी राज्यों के मुख्य निर्वाचन अधिकारियों (सीईओ) के साथ पिछले कई महीनों से बैठके हो रही है। जानकारी के अनुसार मुख्य निर्वाचन अधिकारियों ने समस्या वाले इलाकों, ईवीएम की आवाजाही, सुरक्षा बलों की आवश्यकता, सीमाओं पर कड़ी निगरानी को अपनी रिपोर्ट में सूचित किया है। जानकारी के अनुसार चुनाव आयोग इस बार चुनाव को सफलतापूर्वक करवाने के लिए AI(आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस) के इस्तेमाल की योजना बना रहा है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.