BSP को इलेक्टोरल बांड से नहीं मिला एक रूपए का भी चंदा, जानें ECI की पब्लिश रिपोर्ट में सपा को मिला कितना पैसा?

Electoral Bond: चुनाव आयोग ने सर्वोच्च न्यायालय के आदेशानुसार इलेक्टोरल बांड की सारी जानकारी को गुरुवार को अपनी वेबसाइट में अपलोड कर दिया।
Mayawati Devi and Akhilesh Yadav
Mayawati Devi and Akhilesh Yadavraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद एसबीआई ने अपनी इलेक्टोरल बांड की रिपोर्ट चुनाव आयोग को सौंपी थी, जिसके बाद चुनाव आयोग ने सर्वोच्च न्यायालय के आदेशानुसार इलेक्टोरल बांड की सारी जानकारी को गुरुवार को अपनी वेबसाइट में अपलोड कर दिया। जिसके बाद मिली जानकारी के अनुसार इसको लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया। चुनाव आयोग द्वारा पब्लिश की गई इलेक्टोरल बांड की जानकारी के अनुसार देश की 25 राजनीतिक पार्टियों को इलेक्टोरल बांड के जरिये चंदा मिला। इसमें भाजपा, कांग्रेस समेत कई बड़े दल शामिल हैं। जब से चुनाव आयोग ने यह रिपोर्ट सार्वजनिक की है, तब से हर कोई इन राजनीतिक पार्टियों को मिले चंदे के बारे में जानना चाहते हैं।

इस पार्टी को मिला सबसे अधिक चंदा

चुनाव आयोग ने एसबीआई की इलेक्टोरल बांड की जो रिपोर्ट सार्वजनिक की है, उसके अनुसार भारतीय जनता पार्टी को सबसे अधिक 60.60 अरब रुपये चंदा मिला है। वहीं पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी की पार्टी TMC को 16.09 अरब रूपए का चंदा मिला है, जो कि भाजपा के बाद सबसे अधिक चंदा पाने वाली दूसरी पार्टी है। देश में सबसे ज्यादा शासन करने वाली पार्टी कांग्रेस इस मामले में तीसरे नंबर में रही, जिसको 14.21 अरब रूपए का चंदा मिला है।

BSP का इस सूची में नाम नहीं है

उत्तर प्रदेश की बहुजन समाज पार्टी(BSP) जिसकी मुखिया मायावती हैं। इनको एक भी रूपया चंदा नहीं मिला है। जो कि काफी हैरान करने वाला है। वहीं समाजवादी पार्टी की बात करें तो उसे 14 करोड़ रुपये चंदा मिला है। चुनाव आयोग द्वारा साझा की गई इलेक्टोरल बांड की रिपोर्ट के अनुसार किसी ने भी मायावती की पार्टी को इस इलेक्टोरल बांड के माध्यम से एक भी रूपया का चंदा नहीं दिया है। चुनाव आयोग को एसबीआई द्वारा सौंपी गई रिपोर्ट में समाजवादी पार्टी का नाम 46 बार आया है। लेकिन BSP का इस सूची में नाम नहीं है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.