Google का बड़ा एक्शन, शादी डॉट कॉम, नौकरी डॉट कॉम जैसे कई बड़े ऐप्स को प्ले स्टोर से किया रिमूव; जानें कारण

Google Action: गूगल ने कुछ भारतीय ऐप्स को लेकर बहुत बड़ा एक्शन ले लिया है। उसने अपने प्ले स्टोर से भारत की कुछ जानी मानी ऐप्स को हटाने का फैसला लिया है।
Google
Googleraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। गूगल ने कुछ भारतीय ऐप्स को लेकर बहुत बड़ा एक्शन ले लिया है। उसने अपने प्ले स्टोर से भारत की कुछ जानी मानी ऐप्स को हटाने का फैसला लिया है। भारत की ये ऐप्स हैं Shaadi.com, Bharat Matrimony, 99 acres, Naukri.com आदि, इन ऐप्स की भारत में बहुत मांग थी। अब गूगल के इस बड़े एक्शन के कारण इन ऐप्स के यूजर को बहुत बड़ी परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। साथ ही यह इन ऐप्स के मालिकों के लिए भी बहुत बड़ा झटका है। गूगल की इस पॉलिसी को लेकर इन ऐप्स के मालिकों ने काफी नाराजगी जताई है। आइये जानते हैं क्या है यह मामला?

गूगल ने इन ऐप्स की अभी तक कोई सूची जारी नहीं की है

जानकारी के अनुसार कुछ ऐप्स गूगल की बिलिंग पॉलिसीज पर पूरी तरह से फेल हो गए, जिसके बाद इन ऐप्स को गूगल ने चेतवानी भी दी थी। लेकिन गूगल की बिलिंग पॉलिसीज का सही से पालन न करने के कारण गूगल ने 10 ऐप्स पर बड़ा एक्शन लेते हुए इन्हे गूगल प्ले स्टोर से रिमूव करने का फैसला ले डाला। जानकारी के अनुसार गूगल ने इन ऐप्स की अभी तक कोई सूची जारी नहीं की है।

इन एप्स के मालिक चाहते थे कि गूगल यह चार्ज न लगाये

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार गूगल ने जिन ऐप्स पर यह बड़ा एक्शन लिया है, उनके नाम हैं Naukri.com, Kuku FM, Shaadi.com, Bharat Matrimony, 99 acres, Quack Quack, Stage, Truly Madly, ALTT (Alt Balaji) और दो अन्य ऐप। दरअसल इन ऐप्स पर यह एक्शन सर्विस फीस पेमेंट ना देने के कारण लिया गया है। इन एप्स के मालिक चाहते थे कि गूगल यह चार्ज न लगाये, इसी कारण उन्होंने गूगल को इसका भुगतान नहीं किया।

यह मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा, जिसमे यह फैसला गूगल के पक्ष में गया

इसको लेकर यह मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा, जिसमे यह फैसला गूगल के पक्ष में गया और इन ऐप्स को कोई राहत नहीं मिली। जिसके बाद इन ऐप्स के मालिकों से फीस का भुगतान करने को कहा गया। नहीं तो इन ऐप्स को गूगल से हटाने की बात कही गयी। वहीं इन ऐप्स की वापसी कब तक होगी, इसकी जानकारी अभी सामने नहीं आ पायी है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.