Bharat Jodo Nyay Yatra: आज असम में बोगीनाडी से शुरू हुई राहुल गांधी की न्याय यात्रा, मिल रहा जन समर्थन

Bharat Jodo Nyay Yatra: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मणिपुर से मुंबई तक 6,700 किलोमीटर से ज्यादा की भारत जोड़ो न्याय यात्रा की शुरुआत कर दी है। कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा का आज सातवां दिन है।
Rahul Gandhi
Rahul Gandhi Raftaar

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। देश में कुछ ही महीनो के बाद लोकसभा चुनाव का विगुल बजने वाला है। ऐसे में सभी राजनीतिक दलों ने अपने-अपने स्तर पर इसकी तैयारियां शुरू कर चुकी है। जाहां एक तरफ भाजपा ने अपना वाल पेंटिंग के साथ अपने चुनावी अभियान की शुरुआत कर दी है। तो वहीं कांग्रेस समेत सभी दलो ने भी अपने स्तर पर इसकी तैयारियां कर रही है। ऐसे में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मणिपुर से मुंबई तक 6,700 किलोमीटर से ज्यादा की भारत जोड़ो न्याय यात्रा की शुरुआत कर दी है।

भारत जोड़ो न्याय यात्रा का आज सातवां दिन

कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा का आज सातवां दिन है। यात्रा 14 जनवरी को मणिपुर से शुरू हुई थी और 20 मार्च को मुंबई में समाप्त होगी। असम में यह यात्रा 25 जनवरी तक जारी रहेगी। इसके साथ यह यात्रा 15 राज्यों के 110 जिलों से होकर गुजरेगी। कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा शनिवार को लखीमपुर जिले के बोगीनाडी से फिर से शुरू हुई। जैसे ही यात्रा बस से शुरू हुई, वैसे ही सड़क किनारे खड़े लोगों ने राहुल गांधी का स्वागत करना शुरू कर दिया। ऐसे में, उन्होंने बस से उतरने का फैसला लिया। इस दौरान उन्होंने लोगों से बातचीत की और उनके साथ पैदल चल पड़े।

अरुणाचल प्रदेश में प्रवेश करेगी यात्रा

पार्टी द्वारा साझा किए गए कार्यक्रम के अनुसार, यह यात्रा कुछ समय के लिए गोविंदपुर (लालुक) में रुकेगी। यहां पर कांग्रेस नेता जयराम रमेश, जितेंद्र सिंह, भूपेन बोरा और देवव्रत सैकिया एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया। इसके बाद यह यात्रा दोपहर में फिर से हरमुती से शुरू होकर गुमटो के होते हुए अरुणाचल प्रदेश में प्रवेश करेगी, जहां फ्लैग हैंडओवर समारोह आयोजित किया जाएगा।

असम में राहुल की यात्रा पर दर्ज हुई एफ़आईआर

आपको बता दें असम में राहुल की भारत जोड़ो न्याय यात्रा पर एफ़आईआर भी दर्ज किया गया है। असम पुलिस के अनुसार, यह एफ़आईआर 18 जनवरी को जोरहाट शहर के अंदर इस यात्रा के राज्य सरकार द्वारा स्वीकृत रास्ते से भटकने के आरोप में दर्ज की गई है। इस पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने मीडिया से बातचीत में कहा कि "हमने मार्ग से जुड़े दिशा-निर्देशों का कोई उल्लंघन नहीं किया है, और ना तो कोई नियम तोड़ा है। यह सब प्रयास असम के मुख्यमंत्री इस लिए कर रहें ताकि वो इस यात्रा से लोगों के दुर रख सके जिससे लोग रहुल से मिल ना पाएं। लेकिन हमारी इस यात्रा को कोई नहीं रोक पाएगा।"

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.