Ram Mandir: अयोध्याधाम जाने से पहले PM मोदी रहेंगे 11 दिन के विशेष अनुष्ठान पर, आध्यात्मिक यात्रा का होगा आरंभ

New Delhi: PM नरेन्द्र मोदी ने भगवान श्रीराम की जन्मभूमि अयोध्याधाम जाने से पहले आज से विशेष अनुष्ठान पर हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने एक्स हैंडल पर यह जानकारी कुछ समय पहले देश- दुनिया के साथ साझा की।
Ram Mandir 
PM Narendra Modi
Ram Mandir PM Narendra Modi Raftaar.in

नई दिल्ली, हि.स.। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भगवान श्रीराम की जन्मभूमि अयोध्याधाम जाने से पहले आज से विशेष अनुष्ठान पर हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने एक्स हैंडल पर यह जानकारी कुछ समय पहले देश- दुनिया के साथ साझा की। प्रधानमंत्री मोदी ने लिखा, ''अयोध्या में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा में केवल 11 दिन ही बचे हैं। मेरा सौभाग्य है कि मैं भी इस पुण्य अवसर का साक्षी बनूंगा। प्रभु ने मुझे प्राण प्रतिष्ठा के दौरान सभी भारतवासियों का प्रतिनिधित्व करने का निमित्त बनाया है। ''

PM मोदी ने आगे कहा-

उन्होंने लिखा है, ''इसे ध्यान में रखते हुए मैं आज से 11 दिन का विशेष अनुष्ठान आरंभ कर रहा हूं। मैं आप सभी जनता-जनार्दन से आशीर्वाद का आकांक्षी हूं। इस समय, अपनी भावनाओं को शब्दों में कह पाना बहुत मुश्किल है, लेकिन मैंने अपनी तरफ से एक प्रयास किया है।''

11 दिन का विशेष अनुष्ठान
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारे शास्त्रों में कहा गया है कि हमें ईश्वर के यज्ञ के लिए, आराधान के लिए स्वयं में भी दैवीय चेतना जागृत करनी होती है। इसके लिए व्रत और कठोर नियम बताए गए हैं, जिन्हें प्राण-प्रतिष्ठा से पहले पालन करना होता है, इसलिए आज से 11 दिन का विशेष अनुष्ठान आरंभ कर रहा हूं।

आध्यात्मिक यात्रा की शुरुआत

इस आध्यात्मिक यात्रा की शुरुआत के लिए कुछ तपस्वी आत्माओं और महापुरुषों से मार्गदर्शन मिला है। साथ ही उन्होंने कहा कि इस पवित्र अवसर पर परमात्मा के श्री चरणों में प्रार्थना करता हूं और जनता जनार्दन से प्रार्थना करता हूं कि आप मुझे आशीर्वाद दें ताकि मेरी तरफ से कोई कमी न रहे। ऐसे में चलिए आपको बताते हैं कि विशेष अनुष्ठान क्या होता है और इसका शास्त्रों में क्या महत्व है। शास्त्रों में मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा एक विशद एवं वृहद प्रक्रिया मानी गई है। इसके लिए विस्तृत नियम बताए गए हैं, जिनका पालन प्राण प्रतिष्ठा के कई दिन पहले शुरू कर दिया जाता है। इस दौरान विशेष प्रकार के अनुष्ठान और व्रत के नियमों का पालन किया जाता है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.