Delhi Jal Board: शराब के बाद जल संकट में फंसे केजरीवाल, पेशी से किया इनकार, AAP ने समन को अवैध करार दिया

New Delhi: अरविंद केजरीवाल आज दिल्ली जल बोर्ड में मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में ED द्वारा भेजे गए समन में आज पेश नहीं होंगे।
CM Arvind Kejriwal 
Delhi Jal Board
CM Arvind Kejriwal Delhi Jal BoardRaftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। दिल्ली के सीएम और AAP के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल जल बोर्ड जांच मामले में आज यानी 18 मार्च को प्रवर्तन निदेशालय (ED) के सामने पेश नहीं होंगे। पार्टी ने कहा, ''जब कोर्ट से जमानत है तो ED बार-बार समन क्यों भेज रही है?" पार्टी ने ED के समन को अवैध करार दिया। ED ने उन्हें दिल्ली जल बोर्ड मामले में मनी लॉन्ड्रिंग की धारा 50 के तहत समन जारी किया था।

आतिशी को भी ED ने किया तलब

NDTV की रिपोर्ट के अनुसार, ED दिल्ली जल बोर्ड में अवैध टेंडरिंग और अपराध की कथित लॉन्ड्रिंग की जांच कर रही है। केजरीवाल के अलावा दिल्ली की मंत्री आतिशी को भी मामले में तलब किया गया है। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान आतिशी ने कहा कि "दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को कल शाम ED द्वारा एक और समन मिला। उन्होंने उनसे दिल्ली जल बोर्ड से संबंधित कुछ जांच में शामिल होने के लिए कहा है। हम ED द्वारा दर्ज मामले से अनजान हैं।" अरविंद केजरीवाल को फर्जी मामले में तलब किया गया है।''

एनकेजी इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड को मिला इतने करोड़ का ठेका

इस रिपोर्ट के मुताबिक, ED का मामला एक अन्य जांच एजेंसी केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा दर्ज FIR पर आधारित है। जिसमें आरोप लगाया गया है कि दिल्ली जल बोर्ड के पूर्व मुख्य अभियंता, जगदीश कुमार अरोड़ा ने एनकेजी इंफ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड को ₹38 करोड़ का ठेका दिया था NDTV की एक रिपोर्ट में FIR का हवाला देते हुए बताया गया है कि DJB और NBCC के अधिकारियों ने अवैध रूप से रिश्वत के लिए एनकेजी इंफ्रास्ट्रक्चर का पक्ष लिया।

कंपनी ने फ्रॉड दस्तावेज किए जारी

31 जनवरी को ED ने जगदीश कुमार अरोड़ा और एक ठेकेदार अनिल कुमार अग्रवाल को गिरफ्तार किया था। इस मामले में आरोप लगाया गया कि एनकेजी इंफ्रास्ट्रक्चर ने जाली दस्तावेजों के आधार पर बोली जीती और जगदीश कुमार अरोड़ा को इस तथ्य की जानकारी थी कि कंपनी तकनीकी पात्रता को पूरा नहीं करती है।

AAP से जुड़े लोगों को दी रिश्वत

इस मामले में मनी लॉन्ड्रिंग की जांच करते हुए ED ने आरोप लगाया कि एनकेजी इंफ्रास्ट्रक्चर को अनुबंध दिए जाने के बाद जगदीश कुमार अरोड़ा को नकद और बैंक खातों में रिश्वत मिली। यह राशि कथित तौर पर विभिन्न पार्टियों को दी गई है। जिनमें AAP से जुड़े लोग भी शामिल थे। NDTV ने ED के एक बयान के हवाले से कहा कि "रिश्वत की रकम चुनावी फंड के तौर पर AAP को भी दी गई है।" AAP दिल्ली प्रदेश संयोजक गोपाल राय भी आज एक महत्वपूर्ण संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करेंगे।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.