AAP का BJP पर आरोप, हाऊस अरेस्ट में कैद केजरीवाल का परिवार, कहा- अंग्रेजों ने भी ऐसा शर्मनाक व्यवहार नहीं किया

New Delhi: AAP नेता सौरभ भारद्वाज ने BJP पर आरोप लगाया और कहा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की गिरफ्तारी के बाद उनके परिवार को हाऊस अरेस्ट पर रखा है।
Arvind Kejriwal's famiy under house arrest alleged AAP leaders
Arvind Kejriwal's famiy under house arrest alleged AAP leaders Raftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को प्रवर्तन निदेशालय (ED) द्वारा गिरफ्तार किए जाने के एक दिन बाद आम आदमी पार्टी (AAP) ने आज आरोप लगाया कि केजरीवाल के परिवार को किसी से मिलने नहीं दिया जा रहा है। उनके परिवार को दिल्ली के सिविल लाइंस में हाऊस अरेस्ट किया है।

हाऊस अरेस्ट पर केजरीवाल का परिवार

AAP नेता सौरभ भारद्वाज ने इस मामले में तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह एक मानसिक खेल है जो केंद्र सरकार एक निर्वाचित सीएम के बुजुर्ग माता-पिता के साथ खेल रही है। यहां तक ​​कि अंग्रेजों ने भी इस तरह का शर्मनाक व्यवहार नहीं किया होगा।

केजरीवाल के परिवार से मिलने पर रोक

आम आदमी पार्टी के नेता गोपाल राय ने आज यह दावा किया है दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के परिवार को नजरबंद यानि कि हाऊस अरेस्ट पर रखा है। अरविंद केजरीवाल के आवास पर पहुंचे और तो उन्हें घर के अंदर नहीं जाने दिया। उन्होंने कहा कि केजरीवाल के परिवार से मिलने पर रोक लगाई जा रही है।

AAP कार्यालय के बाहर एकत्र हुए कार्यकर्ता

गोपाल राय ने आगे कहा कि अरविंद केजरीवाल ने लगातार दिल्ली की जनता के लिए काम किया है। अनुमति मिलने के बाद आखिरकार राय को परिवार से मिलने की अनुमति दी गई। इस बीच AAP कार्यकर्ता AAP कार्यालय के बाहर एकत्र हुए और अपना समर्थन दिया।केजरीवाल की गिरफ्तारी के खिलाफ AAP नेता आतिशी और सौरभ भारद्वाज समेत कई नेताओं को दिल्ली पुलिस ने विरोध प्रदर्शन के दौरान हिरासत में लिया है।

भगवंत मान पहुंचे केजरीवाल के परिवार से मिलने

पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान थोड़ी देर पहले दिल्ली में अरविंद केजरीवाल के आवास पर उनके परिवार से मिलने पहुंचे हैं। भगवंत मान कुछ देर में आम आदमी पार्टी के दिग्गज नेताओं के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस का संबोधन करेंगे। केजरीवाल ने आज सुप्रीम कोर्ट में गिरफ्तारी के खिलाफ दर्ज याचिका को वापस ले लिया।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.