अरविंद केजरीवाल को एक और बड़ा झटका, विजिलेंस विभाग ने निजी सचिव बिभव कुमार को किया बर्खास्त

Arvind Kejriwal: दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के निजी सचिव बिभव कुमार के खिलाफ विजिलेंस विभाग ने बड़ी कार्रवाई की है। विजिलेंस विभाग ने बिभव कुमार को बर्खास्त कर दिया है।
Arvind Kejriwal
Arvind Kejriwalraftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की मुश्किलें कम होने का नाम ही नहीं ले रही हैं। वह दिल्ली शराब घोटाला मामले में तिहाड़ जेल में बंद हैं। वहीं उन्हें एक के बाद एक बड़ा झटका लग रहा हैं। दरअसल दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के निजी सचिव बिभव कुमार के खिलाफ विजिलेंस विभाग ने बड़ी कार्रवाई की है। विजिलेंस विभाग ने बिभव कुमार को बर्खास्त कर दिया है। जानकारी के लिए बताना चाहेंगे कि बिभव कुमार ने मंगलवार को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल से तिहाड़ जेल में मुलाकात की थी।

विजिलेंस विभाग ने निजी सचिव बिभव कुमार की नियुक्ति को सही नहीं पाया

विजिलेंस विभाग ने अपनी जांच में दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के निजी सचिव बिभव कुमार की नियुक्ति को सही नहीं पाया, जिसके बाद उनपर ये बड़ी कार्रवाई हुई है। विजिलेंस विभाग के स्पेशल सेक्रेटरी YVVJ राजशेखर ने जो आदेश जारी किया है, उसके अनुसार अरविंद केजरीवाल के निजी सचिव बिभव कुमार की नियुक्ति के लिए निर्धारित प्रक्रिया और नियमों का सही से पालन नहीं किया गया है। जिसके कारण विजिलेंस विभाग के स्पेशल सेक्रेटरी YVVJ राजशेखर ने बिभव कुमार की नियुक्ति को अवैध और अमान्य मानकर उनको बर्खास्त कर दिया है।

विभव कुमार के खिलाफ यह मामला वर्ष 2007 से लंबित है

विजिलेंस विभाग ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निजी सचिव बिभव कुमार की सेवाएं 10 अप्रैल 2024 से समाप्त कर दी है। दरअसल विजिलेंस विभाग ने बिभव कुमार पर सरकारी कर्मचारी पर हमला और काम में बाधा उत्पन्न करने के मामले में यह बड़ी कार्रवाई की है। विभव कुमार के खिलाफ यह मामला वर्ष 2007 से लंबित है।

ED की टीम ने निजी सचिव बिभव कुमार से शराब घोटाला मामले में पूछताछ की थी

विजिलेंस विभाग से पहले ED की टीम ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के निजी सचिव बिभव कुमार से शराब घोटाला मामले में पूछताछ की थी। ईडी ने बिभव कुमार से यह पूछताछ 8 अप्रैल को की थी। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को दिल्ली शराब घोटाला मामले में 21 मार्च को गिरफ्तार कर लिया गया था। उसके बाद उनपर मुसीबतों के पहाड़ टूटे जा रहे हैं। 10 अप्रैल 2024 को ही उनके मंत्री राजकुमार आनंद ने भी आम आदमी पार्टी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए पार्टी और मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.