Amit Shah On CAA: लोकसभा चुनाव से पहले गृह मंत्री अमित शाह का बड़ा एलान, कहा- जल्द लागू होगा CAA

New Delhi: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज CAA को लोकसभा चुनाव से पहले लागू करने का ऐलान कर दिया है। उन्होंने इस बीच कांग्रेस पर लोगो को भड़काने का भी आरोप लगया है।
Amit Shah On CAA
Amit Shah On CAARaftaar

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने आज एक चैनल के साक्षात्कार में नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) को आगामी लोकसभा चुनाव चुनाव से पहले लागू करने को लेकर अपनी मंसा जाहिर कर दी है। शाह ने कहा कि "इस कानून का उद्देश्य "किसी की नागरिकता छीनना" नहीं बल्कि नागरिकता प्रदान करना है।" गृह मंत्री अमित शाह ने कांग्रेस पर मुस्लिम समाज को भड़काने का आरोप लगाया।

क्या है CAA?

CAA को दिसंबर 2019 में लोकसभा में कानून बन गया था। इसका उद्देश्य बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफगानिस्तान से प्रताड़ित शरणार्थियों को नागरिकता प्रदान करना है। विशेष रूप से यह इन देशों से हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई अवैध प्रवासियों को भारतीय नागरिकता की पात्रता प्रदान करने के लिए 1955 के नागरिकता अधिनियम में संशोधन करना चाहता है।

अमित शाह ने कहा...

अमित शाह ने कहा कि “CAA देश का एक अधिनियम है, इसे चुनाव से पहले अधिसूचित किया जाएगा। इसे लेकर कोई भ्रम नहीं होना चाहिए। हमारे देश में अल्पसंख्यकों और विशेषकर हमारे मुस्लिम समुदाय को भड़काया जा रहा है। CAA किसी की नागरिकता नहीं छीन सकता क्योंकि अधिनियम में कोई प्रावधान नहीं है। CAA बांग्लादेश और पाकिस्तान में प्रताड़ित हो रहे शरणार्थियों को नागरिकता प्रदान करने के लिए एक अधिनियम है।

कांग्रेस पर लगाए आरोप

शाह ने यह भी आरोप लगाया कि पिछली कांग्रेस सरकार देश में CAA लागू करने की प्रतिबद्धता से पीछे हट गई थी। “CAA कांग्रेस सरकार का वादा था। जब देश का विभाजन हुआ और उन देशों में अल्पसंख्यकों पर अत्याचार हुआ तो कांग्रेस ने शरणार्थियों को आश्वासन दिया था कि भारत में उनका स्वागत है और उन्हें भारतीय नागरिकता प्रदान की जायेगी। अब वे पीछे हट रहे हैं।"

CAA किसी की नागरिकता नहीं छीन सकता- अमित शाह

देश के विभिन्न हिस्सों में व्यापक विरोध प्रदर्शन हुए हैं। बहरहाल, अमित शाह ने आश्वस्त किया है कि CAA किसी की नागरिकता नहीं छीन सकता, क्योंकि कानून में ऐसा कोई प्रावधान नहीं है। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया है कि सीएए का उद्देश्य उन लोगों को नागरिकता देना है जिन्होंने अपने गृह देशों में उत्पीड़न का सामना किया है और इसे किसी से भारतीय नागरिकता छीनने के लिए नहीं बनाया गया है।

अमित शाह ने तीसरी बार जीत की भविष्यवाणी की

आगामी लोकसभा चुनावों की तैयारी में अमित शाह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पर्याप्त जीत और लगातार तीसरी बार कार्यकाल की भविष्यवाणी करते हुए, BJP और NDA की संभावनाओं पर विश्वास व्यक्त किया है। जयंत चौधरी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय लोक दल (RLD) और शिरोमणि अकाली दल SAD) जैसे दलों के राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में शामिल होने की संभावना पर प्रतिक्रिया देते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) परिवार नियोजन में विश्वास है लेकिन राजनीति में नहीं।

राम मंदिर पर भी बोले शाह

जब शिरोमणि अकाली दल के बारे में विशेष रूप से सवाल किया गया तो शाह ने कहा कि चर्चा चल रही है लेकिन कुछ भी तय नहीं हुआ है। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि 2024 का चुनाव NDA और भारत के विपक्षी गुट के बीच मुकाबला नहीं होगा। बल्कि विकास और केवल नारे लगाने वालों के बीच चुनाव होगा। राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के बारे में शाह ने कहा कि गांधी को इस तरह के मार्च का नेतृत्व करने का कोई अधिकार नहीं है क्योंकि उनकी पार्टी 1947 में देश के विभाजन के लिए जिम्मेदार थी। अयोध्या में राम मंदिर के बारे में शाह ने टिप्पणी की कि 500-550 वर्षों से देश के लोगों का मानना ​​​​था कि मंदिर का निर्माण भगवान राम के जन्मस्थान माने जाने वाले स्थान पर किया जाना चाहिए।

अन्य ख़बरों के लिए क्लिक करें - www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.