Delhi: केन्द्र की उपलब्धियों के प्रचार-प्रसार में सेना के दुरुपयोग मामले में याचिका पर HC में होगी सुनवाई

New Delhi: दिल्ली हाई कोर्ट ने BJP पर पिछले 9 साल की अपनी उपलब्धियों के प्रचार के लिए सेना और सरकारी अधिकारियों के दुरुपयोग का आरोप लगाने वाली याचिका पर 4 जनवरी 2024 को सुनवाई करने का आदेश दिया है।
Delhi High Court
Delhi High CourtSocial Media

नई दिल्ली, हि.स.। दिल्ली हाई कोर्ट ने सत्ताधारी पार्टी पर पिछले 9 साल की अपनी उपलब्धियों के प्रचार के लिए सेना और सरकारी अधिकारियों के दुरुपयोग का आरोप लगाने वाली याचिका पर सुनवाई करते हुए केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया है। कार्यकारी चीफ जस्टिस मनमोहन की अध्यक्षता वाली बेंच ने इस मामले की अगली सुनवाई 4 जनवरी 2024 को करने का आदेश दिया है।

कल्याणकारी योजना का प्रचार क्यों नहीं होना चाहिए

आज सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट ने याचिकाकर्ताओं से पूछा कि किसी कल्याणकारी योजना का प्रचार क्यों नहीं होना चाहिए। योजनाओं के प्रचार में मुख्यमंत्रियों और प्रधानमंत्री की तस्वीरें होती हैं। हर मुख्यमंत्री ऐसा करता है। तब याचिकाकर्ताओं ने कहा कि केवल पिछले 9 साल की योजनाओं के प्रचार के लिए सेना और सरकारी अधिकारियों का दुरुपयोग किया जा रहा है। तब कोर्ट ने कहा कि हर व्यक्ति तात्कालिक योजनाओं के बारे में जानना चाहता है। अगर कोई 50 साल पहले की योजना जानना चाहता है तो इसके लिए प्राइम मिनिस्टर्स म्युजियम है।

याचिकाकर्ता ने इसे पॉलिटिकल प्रोपगेंडा कहा

याचिका जगदीप एस छोकर और ईएएस शर्मा ने दायर की है, जिसमें कहा गया है कि केंद्र सरकार 9 साल की उपलब्धियों के प्रचार-प्रसार के लिए सैन्य बलों का गलत इस्तेमाल कर रही है। यह नियमों के खिलाफ है और किसी राजनीतिक पार्टी के हितों को बढ़ावा देने जैसा है। याचिकाकर्ता ने इसे पॉलिटिकल प्रोपगेंडा कहा है।

लोक सेवकों के इस्तेमाल का आरोप लगाते हुए याचिका की दाखिल

इस मामले को लेकर याचिकाकर्ता ने पहले सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर सत्तारूढ़ दल पर चुनावी लाभ के लिए लोक सेवकों के इस्तेमाल का आरोप लगाते हुए याचिका दाखिल की थी, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया था। हालांकि सुप्रीम कोर्ट ने याचिकाकर्ता को हाई कोर्ट में अर्जी दाखिल करने की इजाजत दे दी थी। इसके बाद याचिकाकर्ताओं ने दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

रफ़्तार के WhatsApp Channel को सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें Raftaar WhatsApp

Telegram Channel को सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें Raftaar Telegram

Related Stories

No stories found.