Delhi: सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी पर BJP ने अरविंद केजरीवाल पर साधा निशाना, कहा- घोटाला ही उनका पेशा

New Delhi News: RRTS परियोजना के लिए दिल्ली सरकार द्वारा 1100 करोड़ रुपये नहीं देने पर सुप्रीम कोर्ट की तल्ख टिप्पणी के परिप्रेक्ष्य में BJP ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा है।
Supreme Court
Supreme CourtRaftaar.in

नई दिल्ली, हि.स.। आरआरटीएस परियोजना के लिए दिल्ली सरकार द्वारा 1100 करोड़ रुपये नहीं देने पर सुप्रीम कोर्ट की तल्ख टिप्पणी के परिप्रेक्ष्य में भारतीय जनता पार्टी ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधा है।

अरविंद केजरीवाल न सिर्फ भ्रष्ट हैं बल्कि जनता विरोधी भी

भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता गौरव भाटिया ने आज संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट की ओर से की गई सीधी टिप्पणी से जाहिर होता है कि अरविंद केजरीवाल न सिर्फ भ्रष्ट हैं बल्कि जनता विरोधी भी हैं।

दिल्ली सरकार को आरआरटीएस परियोजना के लिए 1,100 करोड़ रुपये देने थे लेकिन आज तक एक भी पैसे नहीं दिए। अब कोर्ट ने उन्हें एक हफ्ते का समय दिया है। उन्होंने कहा कि संविधान की व्यवस्था को तार तार करने वाले का नाम केजरीवाल है। उन्होंने कहा की दिल्ली की जनता देख रही है, वे घोटाले के पर्याय हैं।

केजरीवाल सरकार के पास विज्ञापन के लिए करोड़ों रुपये हैं

गौरव भाटिया ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार से सवाल किया है कि एक आम जनता के प्रोजेक्ट के लिए आप की सरकार के पास रुपये नहीं हैं लेकिन विज्ञापन के लिए करोड़ों रुपये हैं। सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है की अगर एक हफ्ते के अंदर दिल्ली सरकार अपना योगदान नहीं करती है तो उसके विज्ञापन का बजट जब्त कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि यह पहली बार नहीं है, जब अरविंद केजरीवाल की सरकार को सुप्रीम कोर्ट ने फटकार लगाई है। केजरीवाल ने संविधान की व्यवस्था को तार तार कर दिया है।

अरविंद केजरीवाल को चेतावनी दी कि वे सुधर जाएं

उन्होंने अरविंद केजरीवाल को चेतावनी दी कि वे सुधर जाएं, नहीं तो अगली बार दिल्ली की जनता उन्हें मुख्यमंत्री तो क्या विधायक भी नहीं बनाएगी। यंग इंडिया पर ईडी द्वारा की गई कार्रवाई पर गौरव भाटिया ने कहा कि गांधी परिवार सबसे भ्रष्टतम परिवार है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

रफ़्तार के WhatsApp Channel को सब्सक्राइब करने के लिए क्लिक करें Raftaar WhatsApp

Telegram Channel को सब्सक्राइब करने के लिए यहां क्लिक करें Raftaar Telegram

Related Stories

No stories found.