New Parliament Building: PM के खिलाफ 19 विपक्षी दल हुए एकजुट, नए संसद भवन के उद्घाटन का बहिष्कार करने का ऐलान

आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने कहा कि बीजेपी दलितों पिछड़ों आदिवासियो की जन्मजात विरोधी है। राष्ट्रपति के अपमान की ये दूसरी घटना है।
PM मोदी के खिलाफ 19 विपक्षी दल हुए एकजुट
PM मोदी के खिलाफ 19 विपक्षी दल हुए एकजुट

नई दिल्ली, रफ्तार न्यूज एजेंसी। नए संसद भवन के उद्घाटन को लेकर राजनीतिक हलकों में सियासत गरमाई हुई है। 28 मई को पीएम नरेंद्र मोदी नए संसद भवन का उद्घाटन करने वाले हैं। गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि इस उद्घाटन में सभी दलों को आमंत्रित किया गया है। हालांकि, नए संसद भवन के उद्घाटन का 19 विपक्षी पार्टियों ने संयुक्त रूप से बहिष्कार कर कहा कि वे संसद के नए भवन के उद्घाटन समारोह का सामूहिक बहिष्कार करेंगे, क्योंकि इस सरकार में संसद से लोकतंत्र की आत्मा को निकाल दिया गया है। इन सभी विपक्षी पार्टियों का कहना है कि नए संसद भवन का उद्घाटन राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को ही करना चाहिए।

19 विपक्षी दलों ने किया संयुक्त रूप से बहिष्कार

नए संसद भवन का उद्घाटन राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू की जगह पीएम मोदी करेंगे। भाजपा के इस फैसले से आक्रोशित होकर19 विपक्षी पार्टियों ने संयुक्त रूप से बयान जारी कर नए संसद भवन के उद्घाटन का बहिष्कार करने का फैसला लिया है। इसमें कांग्रेस, टीएमसी, डीएमके,आम आदमी पार्टी, शिवसेना (उद्धव बालासाहेब ठाकरे), समाजवादी पार्टी, सीपीआई, झारखंड मुक्ति मोर्चा, केरल कांग्रेस (मणि), विदुथलाई चिरुथिगल कच्ची, आरएलडी, जेडीयू, एनसीपी, सीपीआई(एम) , आरजेडी, इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग, नेशनल कांफ्रेंस रिवोल्यूशनरी सोशलिस्ट पार्टी और एमडीएमके शामिल हैं।

कांग्रेस पार्टी ने किया बहिष्कार

28 मई को होने वाले नए संसद भवन के उद्घाटन का 19 दलों के बहिष्कार पर कांग्रेस महासचिव के.सी वेणुगोपाल ने कहा कि यह राष्ट्रपति और भारत के लोकतांत्रिक व्यवस्थाओं को कमजोर करता है, आप लोकतांत्रिक सिद्धांतों और प्रोटोकॉल को कमजोर कर रहे हैं, इसलिए कांग्रेस पार्टी ने सभी समान विचारधारा वाले राजनीतिक दलों से बात की और वो सभी दल भी इस कार्यक्रम को बहिष्कार करने के लिए तैयार हुए।

राष्ट्रपति के अपमान की दूसरी घटना

आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने कहा, 'बीजेपी दलितों पिछड़ों आदिवासियोंं की जन्मजात विरोधी है। राष्ट्रपति के अपमान की ये दूसरी घटना है, पहला अपमान प्रभु श्री राम के मंदिर शिलान्यास में श्री रामनाथ कोविंद जी को नहीं बुलाया। दूसरा अपमान संसद भवन के उदघाटन समारोह में महामहिम राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मूर्मू जी को न बुलाना।'

राष्ट्रपति का अपमान किया जा रहा : तेजस्वी यादव

बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने कहा, 'हमारी सभी लोगों से बात हुई है। हम लोग इसका बहिष्कार करेंगे। हम लोगों का मानना है कि नए संसद का उद्घाटन राष्ट्रपति के द्वारा होना चाहिए क्योंकि संसद का हेड राष्ट्रपति होता है और ये उद्घाटन उनसे न कराकर उनका अपमान किया जा रहा है।'

नए संसद भवन के उद्घाटन पर संजय राउत का बयान

संजय राउत ने कहा कि पुराना संसद भवन ऐतिहासिक है और इस संसद भवन से न आरएसएस और न भाजपा का कोई रिश्ता है। यह खर्चा सिर्फ शिला पर 'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा का उद्घाटन किया गया' लिखाए जाने के लिए हो रहा है।

Related Stories

No stories found.