CG Assembly: अंग्रेजी में भाषण पर टोका, किसान आत्महत्या पर हंगामा; आज अनुपूरक बजट और अभिभाषण पर होगी चर्चा

Raipur News: छत्तीसगढ़ विधानसभा में बुधवार को राज्यपाल विश्वभूषण हरिचंदन का अभिभाषण और मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय द्वारा सदन पटल पर दूसरा अनुपूरक बजट पेश किया गया।
Chhattisgarh Assembly
Chhattisgarh AssemblyRaftaar.in

रायपुर, हि.स.। छत्तीसगढ़ विधानसभा में बुधवार को राज्यपाल विश्वभूषण हरिचंदन का अभिभाषण और मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय द्वारा सदन पटल पर दूसरा अनुपूरक बजट पेश किया गया। इसके बाद कार्यवाही आज के लिए स्थगित कर दी गई है। राज्यपाल के अभिभाषण और द्वितीय अनुपूरक बजट पर चर्चा के लिए आज का दिन निर्धारित किया गया है।

सदन में चल रहा आरोप-प्रत्यारोपण का सिलसिला

सदन में राज्यपाल विश्वभूषण हरिचंदन ने अंग्रेजी में अपने अभिभाषण की शुरुआत करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य की छठवीं विधानसभा के प्रथम सत्र में आप सभी नवनिर्वाचित सदस्यों का हार्दिक स्वागत और अभिनंदन करता हूं। राज्यपाल के अंग्रेजी में अभिभाषण पर पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व पूर्व मंत्री कवासी लखमा ने कहा, राज्यपाल का अभिभाषण कम से कम हिंदी में हो। उन्होंने कहा कि किसी को अंग्रेजी समझ नहीं आ रही है। इसलिए भाषण पढ़ा हुआ मान लिया जाए।

इसी बीच किसान आत्महत्या और 2 लाख के बोनस के मुद्दे पर विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया। कांग्रेस विधायक उमेश पटेल ने किसान आत्महत्या का मामला उठाया। इसी बीच मुख्यमंत्री विष्णु देव साय ने अनुपूरक बजट का अनुमान सदन के पटल पर रखा, जिस पर चर्चा के लिए स्पीकर ने आज का समय निर्धारित करते हुए सदन की कार्यवाही आज के लिए स्थगित करने की घोषणा की।

मेरी सरकार गुड गवर्नेंस को लागू करने के लिए प्रतिबद्ध
इससे पहले सदन की कार्यवाही राज्यपाल के अभिभाषण के साथ शुरू हुई। राज्यपाल ने कहा, 6वीं विधानसभा के लिए प्रदेश में दो चरणों में 7 नवंबर और 17 नवंबर को मतदान की प्रक्रिया पूरी हुई और 3 दिसंबर को मतगणना के बाद परिणाम घोषित हुए। इन चुनावों में चुनकर आए आप इस पवित्र सदन में पहुंचे हैं, इसलिए सर्वप्रथम मैं आप सभी को जीत की बधाई देता हूं।राज्यपाल ने कहा, आपके उज्ज्वल भविष्य की कामना करता हूं। आपने जो वादा और दावा किया है उसे आप पूरा करें।

मतदान के प्रतिशत का दुरस्त इलाकों में बढ़ना सरकार के विश्वास को बताता है। यह लोगों का संविधान के प्रति लगाव को बताने के लिए काफी है। अभिभाषण में राज्यपाल ने कहा, सरकार अपने योजनाओं को पूरा करे। सदन की जो परंपरा है, उसे उच्च स्तर पर लेकर जाए। पक्ष और विपक्ष दोनों की भावनाओं का पूरा सम्मान हो। मेरी सरकार गुड गवर्नेंस को लागू करने के लिए प्रतिबद्ध है। सरकार ने 18 लाख आवास के वादा को पूरा किया है।

सभी वर्गों का विकास सरकार की प्राथमिकता
राज्यपाल ने कहा, सरकार 2 साल का बकाया बोनस देने का वादा पूरा करने जा रही है। इसी दौरान विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया। कांग्रेस विधायक उमेश पटेल ने किसान आत्महत्या का मामला उठाया। राजपाल ने हंगामे के बीच अपना भाषण जारी रखा। उन्होंने विधानसभा चुनाव सफलतापूर्वक सपन्न कराने के लिए निर्वाचन पदाधिकारियों को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में मतदान के अच्छे आंकड़े यह साबित करते है कि अपने लोकतंत्र की रक्षा के लिए ग्रामीण और वन अंचल में रहने वाली जनता का मनोबल मजबूत हुआ है।

राज्यपाल ने कहा कि सभी वर्गों का विकास सरकार की प्राथमिकता है और सुशासन का नया दौर शुरू करने के लिए सरकार संकल्पबद्ध है। उन्होंने कहा कि मेरी सरकार जनता से किये वायदे पूरे करने के लिए समुचित उपाय करेगी। राज्यपाल ने जय छत्तीसगढ़ कहते हुए अपना अभिभाषण पूरा किया। गुरुवार को राज्यपाल के अभिभाषण और द्वितीय अनुपूरक बजट परपर चर्चा होगी।
अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.