छत्तीसगढ़ विधानसभा में उठा महादेव सट्टा ऐप का मुद्दा, गृह मंत्री ने कहा गुनहगारों को भेजा जायेगा जेल

Chhatisgarh News: विधानसभा में जारी बजट सत्र के चौथे दिन की शुरुआत में प्रश्नकाल में गुरुवार को प्रदेश के बहुचर्चित महादेव सट्टा ऐप कांड को लेकर सत्ता पक्ष के विधायकों ने गृह मंत्री को घेरा।
Vijay Sharma
Vijay Sharmaraftaar.in

रायपुर, (हि.स.)। विधानसभा में जारी बजट सत्र के चौथे दिन की शुरुआत में प्रश्नकाल में गुरुवार को प्रदेश के बहुचर्चित महादेव सट्टा ऐप कांड को लेकर सत्ता पक्ष के विधायकों ने गृह मंत्री को घेरा। पूर्व मंत्री राजेश मूणत ने इस पर सवाल किया कि महादेव सट्टा ऐप व अन्य सट्टा ऐप के संबंध में कब कब और क्या-क्या शिकायत की गई है? यह भी पूछा कि इस पर क्या-क्या कार्रवाई की गई है? अंतर्राष्ट्रीय स्तर के लोग शमिल है, ये काफी संवेदनशील मामला है। दुबई से इसका संचालन हो रहा है।भाजपा के सदस्यों ने 30 मिनट इस मामले में गृह मंत्री को घेरा। आधा घंटे इस मसले पर चर्चा चली।

महादेव एप से जुड़े बैंक अकाउंट फ़्रीज किया गया है

मूणत के सवाल पर डिप्टी सीएम सह गृहमंत्री विजय शर्मा ने विस्तार से जवाब देते हुए बताया कि महादेव सट्टा ऐप की कुल 28 शिकायत प्राप्त हुई है, 90 अपराध पंजीकृत किए गए हैं।67 प्रकरणों में से 54 पर चालान पेश हो गया है। दुबई में रह रहे छत्तीसगढ़ के लोग ही इसका संचालन कर रहे हैं। लुक आउट सर्कुलर जारी हुआ है, रेड कॉर्नर नोटिस दिया गया है। प्रत्यर्पण के लिए प्रयास चल रहा है, महादेव एप से जुड़े बैंक अकाउंट फ़्रीज किया गया है। जिन अधिकारियों की भूमिका पाई गई उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई की गई है, दो जेल में हैं. कुछ सस्पेंड हैं। राजेश मूणत जी युवा मोर्चे से हैं और मैं भी युवा मोर्चा से हूँ। जो आग उनके दिल में है वही आग मेरे दिल में भी है. जैसे ही फ़ैसला आ जाएगा। विष्णुदेव सरकार को एक घंटा भी नहीं लगेगा कार्रवाई करने में।

कार्रवाई करने में देरी क्यों हो रही है

राजेश मूणत ने कहा, रविकान्त नाम के एक व्यक्ति का थाने में दर्ज बयान सामने आया है कि उसे उसके दोस्त ने बैंक में खाता खुला दिया। उसके खाते में पैसा आने लगा उसे ही नहीं पता. ऐसे एक नहीं हजारों प्रकरण है। यदि इस तरह के करोड़ों के लेन देन का मामला संज्ञान में आ गया है तो फिर कार्रवाई करने में देरी क्यों हो रही है।

पूरी ताक़त के साथ इस मामले की जांच की जाएगी

उप मुख्यमंत्री विजय शर्मा ने कहा, आनलाइन गेमिंग और बेटिंग के लिए पूर्व में प्रावधान नहीं था। नये नियम में प्रावधान जोड़े गये हैं। इस प्रकरण में जांच जारी है। पूरी ताक़त के साथ इस मामले की जांच की जाएगी।

उप मुख्यमंत्री विजय शर्मा ने कहा, सामान्य प्रशासन विभाग से यह बताया गया है कि ईडी की तरफ से अब तक सरकार को ऐसी कोई जानकारी साझा नहीं की गई। गृह मंत्री ने कहा कि आरोपितों के खिलाफ लुक आउट सर्लकूलर जारी किया गया है। पूरी ताकत के साथ इस विषय की जांच की जाएगी, किसी की भी परवाह किए बिना जो-जो गुनहगार है उनको जेल के पीछे भिजवाया जाएगा। गृह मंत्री विजय शर्मा ने कहा कि मछली ही नहीं अगर कोई मगरमच्छ होगा तो भी पकड़ा जाएगा।

जब संज्ञान में नहीं आया तो बयान कैसे हुए

राजेश मूणत ने पूछा कि जब संज्ञान में नहीं आया तो बयान कैसे हुए ?राशि का ट्रांजैक्शन कैसे होता था इसकी जांच होनी चाहिए।विधायक ने पूछा कि क्या सीबीआई से जांच कराएंगे। भाजपा विधायक धरमलाल कौशिक ने कहा कि अगर कार्रवाई नहीं होगी तो यह सट्टा चलाते रहेंगे।गृह मंत्री विजय शर्मा ने कहा, ईडी में जांच चल रही है, इसलिए दूसरे एजेंसी को मामला देना ठीक नहीं है। एक बार प्रमाणित होने के बाद माननीय सदस्यों को कार्यवाही होते दिखेगी। धरमलाल कौशिक ने कहा कि अगर कार्रवाई नहीं होगी तो यह सट्टा चलाते रहेंगे।

आरोपितों की संपत्ति कुर्क करने की तैयारी भी की जा रही है

गृह मंत्री ने कहा कि आरोपितों की संपत्ति कुर्क करने की तैयारी भी की जा रही है। चार्टर्ड प्लेन से दुबई आरोपित की बारात जाने वालों की लिस्ट भी निकाली जा रही है। मूणत ने पूछा कि किन अधिकारियों को बचाने का प्रयास हो रहा है? क्या सरकार इस केस को सीबीआई को जांच के लिए सौंपेंगी? गृह मंत्री विजय शर्मा ने कहा कि मछली ही नहीं अगर कोई मगरमच्छ होगा तो भी पकड़ा जाएगा।

उप मुख्यमंत्री का जवाब पर्याप्त नहीं है

राजेश मूणत ने सवाल उठाया- जिन लोगों के खिलाफ जांच होनी है वही सिस्टम में बैठे हैं।भाजपा विधायक रिकेश सेन ने कहा, पुलिस अधिकारियों और नेताओं के पास भी महादेव एप की आईडी थी। पुलिस अधिकारी जो बार बार महादेव ऐप को संरक्षण देते रहे उन पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।उप मुख्यमंत्री विजय शर्मा ने कहा, क़ानून का राज होना चाहिए। अधिकारियों के संदर्भ में जो चिंता सदस्यों को हैं। बस प्रमाणित होने की देरी है। जैसे ही तथ्य प्रमाणित होगा किसी को नहीं छोड़ा जाएगा।भाजपा विधायक धर्मजीत सिंह ने कहा, गृहमंत्री स्टेट प्लेन लेकर यूपी चले जायें और योगी जी से मिल आये। दो चार लोगों के घरों में बुलडोज़र चलवा दे।विधायक धरमलाल कौशिक ने कहा, यदि युवाओं का भविष्य सुरक्षित करना चाहते हैं। तो ज़िम्मेदारों के ख़िलाफ़ सख़्त कार्रवाई की जाये।विधायक अजय चंद्राकर ने कहा, अब तक छोटे छोटे लोगों पर कार्रवाई हुई है। उप मुख्यमंत्री का जवाब पर्याप्त नहीं है।

इस मामले में ईडी जांच कर रही है

उप मुख्यमंत्री विजय शर्मा ने कहा, इस मामले में ईडी जांच कर रही है। जांच अंतिम चरणों में है।राजेश मूणत ने अफसरों पर टिप्पणी की कि आप किसे बचा रहे हैं। ये किसी के नहीं है।उप मुख्यमंत्री विजय शर्मा ने कहा- ईडी की प्रेस रिलीज में बहुत सारे नाम है। ईडी हमे इसकी अधिकृत जानकारी देगी हम कार्रवाई करेंगे।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.