Dhamtari: धमतरी जिले में सक्रिय मनरेगा मजदूरों की संख्या डेढ़ लाख, हो रही काम की मांग

Chhatisgarh: मनरेगा योजना में कार्य करने वाले सक्रिय मनरेगा मजदूरों की संख्या जिले में डेढ़ लाख है। जनवरी माह से इस कार्य में तेजी आएगी, लेकिन मजदूरों के लिए सिर्फ 10 लाख मानव दिवस शेष बचा है।
Dhamtari
Dhamtariraftaar.in

धमतरी, (हि.स.)। मनरेगा योजना में कार्य करने वाले सक्रिय मनरेगा मजदूरों की संख्या जिले में डेढ़ लाख है। जनवरी माह से इस कार्य में तेजी आएगी, लेकिन मजदूरों के लिए सिर्फ 10 लाख मानव दिवस शेष बचा है। शासन को भेजे प्रस्ताव को यदि स्वीकृति नहीं मिलती है, तो मनरेगा मजदूरों को काम के लाले पड़ सकते हैं, क्योंकि रबी सीजन के रोपाई के बाद मजदूरों के लिए कोई काम नहीं है।

जिले में कुल 38 लाख मानव दिवस हुआ है

मनरेगा योजना के तहत जिले में इस साल मनरेगा योजना में मजदूरों के लिए सिर्फ 28 लाख मानव दिवस का लक्ष्य मिला था, जो बहुत ही कम है। बाद में 10 लाख मानव दिवस और बढ़ाई गई। इस तरह जिले में कुल 38 लाख मानव दिवस हुआ है। इसमें से अब तक मनरेगा मजदूरों ने 28 लाख मानव दिवस पूर्ण कर लिए है। मनरेगा मजदूरों के लिए सिर्फ 10 लाख मानव दिवस शेष है, जिस पर उन्हें कार्य करना है।

जिला मनरेगा विभाग ने शासन को मानव दिवस बढ़ाने के लिए प्रस्ताव भेजा है

वर्तमान में मनरेगा योजना के तहत हर रोज 17 हजार मनरेगा मजदूर विभिन्न कार्य जैसे आंगनबाड़ी भवन निर्माण, पीएम आवास निर्माण समेत अन्य कार्य शामिल है। दिसंबर माह तक मजदूरों की संख्या कम है। जिला मनरेगा विभाग ने शासन को मानव दिवस बढ़ाने के लिए प्रस्ताव भेजा है। समय रहते यदि मानव दिवस में बढ़ोत्तरी हुई तो ठीक है, लेकिन प्रस्ताव को स्वीकृति नहीं मिली, तो जिला के मनरेगा मजदूरों को काम के लाले पड़ना शुरू हो जाएगा।

मनरेगा योजना में काम करने वाले मजदूरों की संख्या बढ़ने की संभावना है

इधर जिला पंचायत कार्यालय में पिछले दिनों जिला पंचायत सीईओ रोक्तिमा यादव ने मनरेगा विभाग की बैठक लेकर पंचायतों में बंद पड़े पुराने कार्याें को शुरू करने के लिए निर्देशित किया है, ताकि मनरेगा मजदूरों को काम मिल सके। बंद पड़े कार्य शुरू होने के साथ मनरेगा योजना में काम करने वाले मजदूरों की संख्या बढ़ने की संभावना है।

शासन को मानव दिवस बढ़ाने के लिए प्रस्ताव भेजे हैं

इस संबंध में जिला पंचायत धमतरी के एपीओ धरम सिंह ने बताया कि मनरेगा योजना के तहत जिले में 10 लाख मानव दिवस शेष है। दिसंबर माह में धान-कटाई मिंजाई के चलते फिलहाल काम करने वाले मजदूरों की संख्या कम है। जनवरी व फरवरी माह में मजदूरों की संख्या में बढ़ोत्तरी होगी। शासन को मानव दिवस बढ़ाने के लिए प्रस्ताव भेजे हैं।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.