लोकसभा चुनावों से पहले एक्शन में कमांडो, छत्तीसगढ़ में 36 लाख के इनामी नक्सलियों को किया ढेर

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ में सुरक्षाबलों ने मंगलवार सुबह एक बड़े ऑपरेशन को अंजाम दिया है, इस ऑपरेशन में 36 लाख के चार इनामी नक्सली कमांडर को मार गिराया गया है।
लोकसभा चुनावों से पहले एक्शन में कमांडो, छत्तीसगढ़ में 36 लाख के इनामी नक्सलियों को किया ढेर
raftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। छत्तीसगढ़ में सुरक्षाबलों ने मंगलवार सुबह एक बड़े ऑपरेशन को अंजाम दिया है, इस ऑपरेशन में 36 लाख के चार इनामी नक्सली कमांडरों को मार गिराया गया है। यह नक्सलियों के लिए बड़ा झटका है। सुरक्षाबलों ने इस एनकाउंटर को छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र की सीमा पर अंजाम दिया है। C60 कमांडो ने बड़ी ही समझदारी के साथ इन नक्सलियों को घेरा और जवाबी कार्रवाई में ढेर कर दिया है। लोकसभा चुनावों के मध्य नजर सुरक्षाबलों की यह बड़ी कार्रवाई है।

एनके 47 समेत ये हथियार बरामद

सुरक्षाबलों ने नक्सलियों को जवाबी फायरिंग में मार गिराया। उन्होंने सुरक्षबलों पर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी थी और सरेंडर को तैयार नहीं थे। जिसका सुरक्षाबलों ने कड़ा जवाब दिया और 36 लाख के चार इनामी नक्सली कमांडर को मार गिराया। मरने वाले नक्सलियों की पहचान हो गई है, इनके नाम वर्गीश, मंगतु, कुरसम राजू और वेंकटेश है। सुरक्षाबलों ने घटनास्थल से एक AK47, एक कार्बाइन, दो पिस्टल समेत भारी मात्रा में विस्फोटक सामग्री बरामद कर लिया है।

गृह मंत्रालय के 2013 से 2022 तक 10 साल के नक्सली हमले के आकड़े

पिछले साल ही गृह मंत्रालय ने छत्तीसगढ़ में नक्सली हमलों के आंकड़े पेश किए थे, मंत्रालय ने यह आकड़े पिछले साल मार्च में लोकसभा में पूछे गए एक सवाल के जवाब में पेश किये। इन आकड़ो के मुताबिक वर्ष 2022 में छत्तीसगढ़ में 305 नक्सली हमले हुए थे। इससे पहले सरकार ने संसद में नक्सली हमले को लेकर बताया था कि वर्ष 2023 में जनवरी से फरवरी तक इन दो महीनो में छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले में 7 जवान शहीद हो गए थे। वहीं अगर गृह मंत्रालय के 2013 से 2022 तक 10 साल के आकड़े देखे जाएं तो छत्तीसगढ़ में 3 हजार 447 नक्सली हमले हुए। जिसमे 418 जवान शहीद हुए थे। वहीं हमारे सुरक्षाबलों ने 663 नक्सलियों को मार गिराया।

हम सबको हमारे देश के जवानो पर गर्व है, जो अपनी जान की परवाह करे बिना निरंतर देश सेवा में लगे रहते हैं।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.