Farmer Protest: केंद्र और किसान संगठनों के बीच नहीं बन पाई सहमति, चौथी बैठक रविवार को

Farmer Protest: पंजाब के किसान संगठनों के दिल्ली कूच के आह्वान के बाद केंद्र सरकार से चल रही तीसरे दौर की वार्ता पर भी गुरुवार रात सहमति नहीं बन सकी।
Arjun Munda, Piyush Goyal and Bhagwant Mann
Arjun Munda, Piyush Goyal and Bhagwant Mannraftaar.in

चंडीगढ़, (हि.स.)। पंजाब के किसान संगठनों के दिल्ली कूच के आह्वान के बाद केंद्र सरकार से चल रही तीसरे दौर की वार्ता पर भी गुरुवार रात सहमति नहीं बन सकी। अब चौथे दौर की वार्ता रविवार शाम चंडीगढ़ में होगी। तीसरे दौर की वार्ता रात करीब दो बजे तक चली। बैठक में केंद्र सरकार के प्रतिनिधि के रूप में केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा, पीयूष गोयल और नित्यानंद रॉय शामिल हुए। पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान, वित्तमंत्री हरपाल सिंह चीमा और राज्य के अधिकारियों ने अपना पक्ष रखा।

केंद्रीयमंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि कई मामलों पर सहमति बन रही है

केंद्रीयमंत्री अर्जुन मुंडा ने कहा कि कई मामलों पर सहमति बन रही है। कुछ मांगों पर विस्तार से रिपोर्ट तैयार करने की जरूरत है। किसान बातचीत के लिए तैयार हैं। एमएसपी की अधिसूचना जारी करने और किसानों की कर्ज माफी को लेकर अधिकारियों से रिपोर्ट मांगी गई है। अब 18 फरवरी की शाम छह बजे चौथे चरण की बैठक होगी। मुख्यमंत्री मान ने कहा कि किसानों की मांगों को पूरा करने के लिए राज्य सरकार हर तरह का फैसला लेने को तैयार है। किसानों को इस बात के लिए राजी कर लिया गया है कि वह रविवार को चंडीगढ़ में होने वाली बैठक में शामिल हों।

दिल्ली कूच प्रतिष्ठा का सवाल नहीं है

किसान नेता स्वर्ण सिंह पंधेर और जगजीत सिंह डल्लेवाल ने कहा है कि दिल्ली कूच प्रतिष्ठा का सवाल नहीं है। अगर यहीं पर मांगें मान ली जाती हैं तो किसान इस समय जहां बैठे हैं वहीं से लौट जाएंगे। सरकार मांगों को पूरा करने के लिए लिखित में आश्वासन दे। वह रविवार को होने वाली बैठक में शामिल होंगे।

जिस तरह से किसान और सरकार के बीच वार्ता चल रही है, इससे उम्मीद की जा सकती है कि रविवार शाम को चौथी दौर की वार्ता सफल रहे। ऐसा होना भी चाहिए, इससे किसानों के साथ साथ आम लोगो को भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.