Bihar News: दूल्हा मंडप से भागा तो थाने पहुंची दुल्हन, बोली- ब्याह करवा दो, नहीं तो...

Bihar News: दरअसल यह घटना बिहार के आरा जिला के रामपुर गांव की है।
प्रतीकात्मक फोटो
प्रतीकात्मक फोटो raftaar.in

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। बिहार से एक बेहद ही हैरान करने वाली घटना सामने आ रही है। यह कहानी एक लड़का और लड़की को पति और पत्नी के पवित्र बंधन में बांधने वाली शादी की सात फेरो की पवित्र रस्म से जुड़ी है।

जयमाला तक सब कुछ बड़ी खुशी के साथ हो जाता है

दरअसल यह घटना बिहार के आरा जिला के रामपुर गांव की है। इस गांव में एक लड़की का रिश्ता पास के ही किसी दूसरे गांव के लड़के के साथ तय होता है। लड़के वाले तय तारीख 28 अप्रैल को बारात लेकर लड़की के गांव पहुंचते हैं। दूल्हे का द्वाराचार(बारात आने पर द्वार के पास की जाने वाली पूजा) बड़ी खुशी के साथ किया जाता है। उसके बाद जयमाला तक सब कुछ बड़ी खुशी के साथ हो जाता है।

दूल्हा इतना जिद्दी था कि वह मंदिर में बाकी रस्में पूरी करने के लिए भी नहीं पंहुचा

लेकिन मंडप में फेरे शुरू होने से पहले ही किसी बात को लेकर दुल्हन के चाचा और दूल्हे के भाई के बीच में झगड़ा शुरू हो गया। दोनों के बीच विवाद इतना बढ़ा कि दोनों पक्षों में हाथापाई तक नौबत आ जाती है। जिससे नाराज होकर दूल्हा मंडप से फेरों की रस्मे पूरे किए बगैर ही वहां से चला गया। दूल्हा अपने घर वापस चला गया।

अगले दिन रिश्ता करवाने वालों ने दूल्हे के परिवार को शादी के लिए दोबारा राज़ी किया। लड़के वाले मान गए कि गांव के पास एक एक मंदिर में शादी की बाकी रस्में पूरी कर दी जाएंगी। हालांकि, दूल्हा शादी के लिए राज़ी नहीं हुआ, वो रस्में पूरी करने के लिए मंदिर भी नहीं पहुंचा।

दोनों ही पक्ष बातचीत के माध्यम से इस विवाद को हल करना चाहते हैं

जिद्दी दूल्हे से परेशान होकर दुल्हन के परिवार वाले पुलिस के पास पहुंचे। दुल्हन अपने परिवार वालों के साथ थाने पहुंची। उसने गुहार लगाई कि दुल्हन बनने के बाद भी दूल्हे की जिद की वजह से उसकी शादी नहीं हो पा रही है। उसने पुलिस से गुज़ारिश की कि वो उसके दूल्हे को मनाएं, ताकि उसकी शादी अच्छे से हो जाए। इस मामले में लड़की पक्ष का कहना है कि अगर दूल्हा शादी के लिए राज़ी नहीं होता है तो वो लोग दूल्हे और उसके परिवार के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाएंगे। फिलहाल इस मामले में रिपोर्ट नहीं लिखवाई गई है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.