Rajgir model will be implemented in Bihar for environmental protection: CM
Rajgir model will be implemented in Bihar for environmental protection: CM

पर्यावरण सुरक्षा के लिए बिहार में लागू होगा राजगीर मॉडल : सीएम

जल-जीवन-हरियाली पर आयोजित परिचर्चा को सम्बोधित कर रहे थे नीतीश मंच से ही मुख्य अभियंता को लगाईं फटका पटना, 05 जनवरी (हि.स.) । जल-जीवन-हरियाली दिवस के अवसर पर 'जल-जीवन-हरियाली अभियान में जन-भागीदारी' विषयवस्तु पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को परिचर्चा कार्यक्रम का उद्घाटन किया। मौके पर उन्होंने कहा कि जल-जीवन हरियाली को लेकर बिहार सरकार काफी सक्रिय है। मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में सोशल मीडिया पर भी खूब भड़ास निकाली। इतना ही नहीं, एक अधिकारी जिन्होंने मंच से सलाह दी थी, उनकी भी क्लास लग गई। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि राजगीर ऑडिनेंस फैक्ट्री के आसपास अगले दो साल तक वर्षा न भी हो तो कोई परेशानी नहीं होगी। ऐसा इसलिए क्यों कि वहां पर बड़े-बड़े तालाब बनाए गए हैं, जिससे बारिश के पानी का संरक्षण होता है। यह मॉडल पूरे बिहार में लागू करने की जरूरत है। मुख्यमंत्री जल संसाधन विभाग के मुख्य अभियंता के संबोधन पर गुस्से में आ गए। नीतीश कुमार ने मंच से ही कहा कि आपको कुछ जानकारी नहीं है कि पर्यावरण को लेकर बिहार के सरकारी स्कूल के बच्चों को कितना जागरूक किया गया है। आपका जो काम है, उसके बारे में जानकारी रखिये। आप जल संसाधन विभाग के इंजीनियर हैं, आप अपने विभाग के बारे में पहले जानकारी रखिये। हमलोगों ने पर्यावरण को लेकर काफी काम किया है। बिहार के मुखिया इन दिनों सोशल मीडिया से परेशान हैं। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया ने परेशान कर रखा है। फालतू की बातें घर-घर पहुंचाय जा रही हैं और हमारे द्वारा किए गए अच्छे कामों की कोई पूछ नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना काल में हमारे खिलाफ कितना दुष्प्रचार किया गया। बिहार सरकार ने कोरोना काल में फंसे लोगों के लिए क्या नहीं किया, फिर भी तरह-तरह की बातें की गई। कहा गया कि बिहार की सरकार कुछ नहीं कर रही। जबकि सरकार ने बाहर फंसे लोगों के खाते में एक-एक हजार रूपये भिजवाये। फिर भी कुछ लोग कमेंट करते थे कि कुछ राज्य बसों से भरकर अपने लोगों को वापस ला रहे हैं और हमलोग चुपचाप बैठे हैं। केंद्र सरकार ने गाईडलाइन में जैसे ही बदलाव किया, हमलोगों ने भी बाहर फंसे लोगों को वापस लाने की कोई कसर नहीं छोड़ी। हमलोग जो काम करते हैं, वो घर-घर नहीं पहुंचता लेकिन जहां कुछ कमी रह जाती है वह बातें घर-घर पहुंच जाती हैं। अब राजगीर मॉ़ल लागू होगा सीएम नीतीश कुमार ने अधिकारियों से कहा कि पूर्व रक्षामंत्री जॉड फर्नांडिस के प्रयास से राजगीर ऑडिनेंश फैक्ट्री स्थापित की गई। उस समय हमारी सलाह पर वहां बड़े-बड़े तालाब का निर्माण हुआ। आज स्थिति यह है कि अगर दो साल भी वर्षा नहीं हो तो वहां पानी की कमी नहीं होगी। क्योंकि वहां पर रक्षा मंत्रालय ने फैक्ट्री के अगल-बगल बड़े-बड़े तालाब का निर्माण कराया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम फिर से वहां जायेंगे और अपने अधिकारियों को भी ले जायेंगे ताकि वहां देखें और बाकी जगहों पर उसे लागू करें। बड़े-बड़े तालाब बनेंगे जिससे की बारिश के पानी का संरक्षण हो सकेगा। सीएम नीतीश ने अधिकारियों से कहा कि आपलोग राजगीर के ऑडिनेंस फैक्ट्री के आसपास बने तालाबों की तस्वीर शेयर कीजिए। इसका फायदा होगा कि लोग जानेंगे और अपने आसपास भी तालाब निर्माण को लेकर प्रेरित होंगे। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव रंजन/चंदा-hindusthansamachar.in

Related Stories

No stories found.