Bihar Politics Live: 10 दिसंबर को ही Bihar में सरकार बदलनी हो गई थी तय, शाह-नीतीश मिले, सियासी गुल खिले

Nitish Kumar Resigns:बिहार में सियासी उठा-पटक थम चुका है। नीतीश कुमार ने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया है। आज शाम पांच बजे वह मुख्यमंत्री पद की नौवीं बार शपथ लेंगे।
बिहार के राज्यपाल को इस्तीफा सौंपते नीतीश कुमार। इनसेट में 10 दिसंबर 2023 की तस्वीर, जब सार्वजनिक कार्यक्रम में अमित शाह और नीतीश मिले थे।
बिहार के राज्यपाल को इस्तीफा सौंपते नीतीश कुमार। इनसेट में 10 दिसंबर 2023 की तस्वीर, जब सार्वजनिक कार्यक्रम में अमित शाह और नीतीश मिले थे।रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। बिहार में सियासी उठा-पटक थम चुका है। नीतीश कुमार ने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया है। आज शाम पांच बजे वह मुख्यमंत्री पद की नौवीं बार शपथ लेंगे। एनडीए के साथ मिलकर नीतीश (जदयू) सरकार बना रही है। मगर, इस इस सियासी फेरबदल की पटकथा 50 दिन पहले ही लिख दी गई थी। जब गृह मंत्री एवं भाजपा के वरिष्ठ नेता अमित शाह और सीएम नीतीश कुमार जदयू और एनडीए गठबंधन टूटने के बाद पहली बार 10 दिसंबर 2023 को सरकारी कार्यक्रम में एक साथ-एक मंच पर दिखे थे। इस कार्यक्रम में नीतीश ने गर्मजोशी से अमित शाह का स्वागत किया था। इस मुलाकात के बाद बिहार में अचानक राजनीतिक घटनाक्रम बदलने लगे। 29 दिसंबर 2023 को दिल्ली में जदयू की अहम बैठक हुई। इसमें ललन सिंह को जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटा दिया गया। नीतीश एक बार फिर पार्टी की कमान संभाले।

शाह ने कहा था-प्रस्ताव आएगा तो विचार करेंगे

जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से ललन सिंह के हटने के 16 दिन बाद नीतीश को लेकर अमित शाह का स्टैंड बदल जाता है। शाह उस थ्योरी को नकारते हैं कि अब नीतीश के लिए एनडीए में वापसी की कोई संभावना नहीं है। एक इंटरव्यू में अमित शाह से सवाल पूछा किया गया था कि पुराने साथी जो छोड़कर चले गए थे-नीतीश आदि आना चाहेंगे तो क्या रास्ते खुले हैं? इस पर शाह ने कहा था, जो और तो से राजनीति में बात नहीं होती। किसी का प्रस्ताव होगा तो जरूर विचार किया जाएगा। यहीं से बिहार की सियासत में बदल की बयार तेज हो गई और आज फिर नीतीश एनडीए के साथ हैं।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करेंwww.raftaar.in

Related Stories

No stories found.