Bihar News: बिहार राज्य शिक्षा विभाग का गजब फरमान, अब टीचर पढ़ाने के साथ बेचेंगे 20 रुपये में बोरा

Bihar govt: सरकार के राज्य शिक्षा विभाग ने बिहार सरकार के श‍िक्षकों को जारी आदेश में राज्य शिक्षा विभाग ने शिक्षकों को कम से कम 20 रुपये प्रति बोरा बेचने का निर्देश दिया है।
Bihar News
Bihar News

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। बिहार सरकार का शिक्षा विभाग अक्सर अपने द्वारा जारी फरमानों को लेकर चर्चा में रहता है। इस बार भी राज्य शिक्षा विभाग ने कुछ ऐसा फरमान जारी किया है कि जिसको लेकर वो सुर्खियों में है। दरअसल सरकार के राज्य शिक्षा विभाग ने बिहार सरकार के श‍िक्षकों को दी जाने वाली जिम्मेदारियों को लेकर एक नया आदेश जारी किया है। इस आदेश में राज्य शिक्षा विभाग ने शिक्षकों को कम से कम 20 रुपये प्रति बोरा बेचने का निर्देश दिया है।

लिखित आदेश हुआ जारी

गौरतलब है कि डायरेक्टर (मिड डे मील) मिथिलेश मिश्रा 14 अगस्त, 2023 को एक पत्र के माध्यम से सभी जिला कार्यक्रम अधिकारियों (मध्याह्न भोजन) को निर्देश दिया कि वे राज्य सरकार द्वारा संचालित विद्यालय के छात्रों के लिए मध्याह्न भोजन तैयार करने के लिए परिवहन किए गए अनाज की खपत के बाद बचे हुए बोरों की बिक्री सुनिश्चित करें। इसके साथ उस आदेश में कहा गया है कि संबंधित जिला कार्यक्रम अधिकारियों को राज्य योजना निधि के प्रबंधन के लिए संचालित स्थानीय बैंक खातों में बिक्री आय जमा करना होगा। इसके साथ राशि जमा होने के बाद, संबंधित जिला कार्यक्रम अधिकारियों को निदेशक (मिड डे मील) द्वारा पत्र के माध्यम से विभाग को लिखित रूप से सूचित करना होगा। 2016 में जारी पूर्व निर्देश के अनुसार महत्वाकांक्षी मध्याह्न भोजन योजना के लिए खाद्यान्न आपूर्ति की प्रक्रिया में प्राप्त बारदाने की दर 10 रुपये प्रति नग तय की गई थी। जिसको अब बढ़ा कर 20 रुपये प्रति नग कर दिया गया है।

लगातार सुर्खियों में रहा है राज्य शिक्षा विभाग

आपको बता दें बिहार सरकार के राज्य शिक्षा विभाग ने इससे पहले अपने हालिया कारनामों को लेकर लगातार सुर्खियों में बना रहा है। इससे पहले राज्य शिक्षा विभाग ने शिक्षक भर्ती नीति में कुछ बदलाव किया था और इसके साथ उन्होंने छात्रों की उपस्थिति का भी एक आदेश जारी किया था। दिलचस्प बात यह है कि अतिरिक्त मुख्य सचिव (शिक्षा) केके पाठक ने एक निरीक्षण दौरे के दौरान राज्य के वैशाली जिले में तैनात शिक्षा विभाग के एक अधिकारी की शारीरिक विशेषताओं पर ट‍िप्पणी भी की थी। फिलहाल उन्होंने अपनी टिप्पणियों के लिए आलोचना की है।

Related Stories

No stories found.