Bihar News: आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने किया बिहार विधानसभा का घेराव, पुलिस ने किया वाटर कैनन का इस्तेमाल

Patna: आंगनवाड़ी सेविका और सहायिका अपने हक की लड़ाई लड़ रहे हैं। उनका कहना है कि प्रदेश सरकार उनकी मांगो को पूरा नहीं कर रही है। वे सरकारी कर्मचारी का दर्जा पाना चाहते है।
Police lathi charged on Bihar Anganwadi assistants
Police lathi charged on Bihar Anganwadi assistantsraftaar.in

बिहार, रफ्तार डेस्क। बिहार विधानसभा सत्र के आज दूसरे दिन आंगनवाड़ी सहायिकाओं ने पटना में विधानसभा का घेराव किया। इस विधानसभा के घेराव में आंगनवाड़ी सेविकाओं की मांग थी कि उनके वेतान को 25000 रूपये और सहायिका पद के लिए 18000 रूपए वेतन दिए जाएं। आंगनवाड़ी सहायिकाओं सेविकाओं के विधानसभा घेराव पर बिहार पुलिस ने इनपर वाटर कैनन का प्रयोग इनके आन्दोलन को रोकने का प्रयास किया। पुलिस के अनुसार इनके पास प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं थी। पुलिस ने आंगनवाड़ी सेविका, सहायिका पर लाठीचार्ज किया है। पुलिस इन्हे गर्दनीबाग धरना स्थल पर भेज रही है।

प्रदर्शन का कारण

दरअसल, आंगनवाड़ी सेविका और सहायिका की बिहार सरकार से मांग थी कि आंगनवाड़ी सेविका के पद के लिए 25000 रूपये वेतन और सहायिका पद के लिए 18000 रूपए वेतन होना चाहिए। उन्हें अपने भविष्य को लेकर भी चिंता है, जिसके लिए वे अपनी सेवानिवृति के बाद 10000 रूपए की हर महीने की पेंशन की मांग कर रही थी। वे अपनी ड्यूटी के दिन का कुल समय 8 घंटा करने की भी मांग कर रही थी। आंगनवाड़ी सेविका और सहायिका अपने हक की लड़ाई लड़ रही हैं। उनका कहना है कि प्रदेश सरकार उनकी मांगो को पूरा नहीं कर रही है। वे सरकारी कर्मचारी का दर्जा पाना चाहते है।

आंगनवाड़ी सेविका और सहायिका का सरकार के खिलाफ बड़ा आक्रोश

आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओ का कहना है कि बिहार सरकार के उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने चुनाव के समय आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओ का वेतन दुगना करने का वादा किया था, लेकिन चुनाव जीत जाने के बाद तेजस्वी यादव उनकी मांगो को पूरा नहीं कर रहे हैं। आंगनवाड़ी सेविका और सहायिका का सरकार के खिलाफ बड़ा आक्रोश है। सरकार से उनकी मांगे पूरी न होते देख, आंगनवाड़ी सेविका और सहायिका ने पटना में आज बड़ा प्रदर्शन किया है।

लाठीचार्ज होने से आंगनवाड़ी सेविका और सहायिका की सरकार से नाराजगी बढ़ गयी है

पुलिस ने आंगनवाड़ी सेविका और सहायिका के प्रदर्शन को रोकने के लिए उनपर लाठीचार्ज किया है। पुलिस इन्हे गर्दनीबाग धरना स्थल पर भेज रही है। लाठीचार्ज होने से आंगनवाड़ी सेविका और सहायिका की सरकार से नाराजगी बढ़ गयी है। वर्तमान परिस्थिति को देखने से लगता है कि आंगनवाड़ी के सेविका और सहायिका का प्रदर्शन जल्दी से रुकने वाला नहीं है।

Related Stories

No stories found.