ये है भगवान राम का अनोखा मंदिर, दिन में रहते हैं यहां और रात में चले जाते हैं अयोध्या

Ayodhya Ram Mandir: देशवासियों के 500 वर्षों का इंतजार आज समाप्त हो चुका है। अयोध्या स्थित राम मंदिर में रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा हो रही है। राम का जन्म अयोध्या में हुआ था।
अयोध्या स्थित श्रीराम मंदिर परिसर और रामलला।
अयोध्या स्थित श्रीराम मंदिर परिसर और रामलला। रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। देशवासियों के 500 वर्षों का इंतजार आज समाप्त हो चुका है। अयोध्या स्थित राम मंदिर में रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा हो रही है। राम का जन्म अयोध्या में हुआ था। मगर, ऐसी भी एक जगह है, जहां भगवान राम को राजा की उपाधि दी जाती है। जितना गहरा नाता रामलला का अयोध्या से है, उतना ही ओरछा से भी है। जी हां! मध्य प्रदेश के ओरछा शहर की मंदिर भगवान राम को समर्पित है। इसे राजा राम का मंदिर कहा जाता है। यह भारत का इकलौता ऐसा मंदिर है, जहां रामलला की पूजा राजा राम की तरह की जाती है। पूरी दुनिया में यही ऐसा मंदिर है, जहां श्रीराम को पुलिस सलामी देती है।

बंदूकों से श्रीराम को दी जाती है सलामी

मंदिर में तैनात पुलिसकर्मी का कहना है कि मध्य प्रदेश की पुलिस ओरछा के राम राजा मंदिर में किसी राजा या वीआईपी प्रोटोकॉल की तरह एक गार्ड के तौर पर तैनात रहती है। पुलिस राजा राम को बंदूकों से सलामी दी जाती है। बाकायदा शस्त्र बल राजा राम को गार्ड ऑफ ऑनर दिया करते हैं। बताया जाता है कि इस जगह चाहे प्रधानमंत्री आए या मुख्यमंत्री,उन्हें ओरछा के मंदिर में सलामी नहीं दी जाती है, क्योंकि यहां के राजा सिर्फ श्रीराम हैं।

दिन में रहते हैं ओरछा मंदिर में, रात में जाते हैं अयोध्या

ओरछा के इस मंदिर के पुजारी विजय गोस्वामी का कहना है कि राजा राम दिन में ओरछा में रहते हैं। रात में सोने के लिए अयोध्या चले जाते हैं। पुजारी ने बताया कि ओरछा में रहने वाले रामलला दिन में यहां राजा राम बन जाते हैं। मान्यता है कि दिन में भगवान राम बाकायदा अपना कामकाज निपटाते हैं। फिर उन्हें रात में अयोध्या विदा करने के लिए तैयारियां की जाती हैं।

हनुमान जी से अयोध्या ले जाने का की जाती है गुजारिश

मंदिर में रात 9 बजे रामलला की घंटों-शंख, ढोल-नगाड़ों की ध्वनि के बीच आरती होती है। आरती के बाद पुजारी सिंहासन पर राजा राम को दीपक के तौर पर मानकर पाताली हनुमान ले जाते हैं, जहां हनुमान जी से गुजारिश की जाती है कि अब भगवान राम को अयोध्या ले जाएं। इस मंदिर में न बेल्ट पहनकर आया जाता है न किसी वीआईपी के सुरक्षा कर्मी हथियार ले जा सकते हैं।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.