Ram Mandir: 500 साल पहले इस रानी के हाथों मारा गया था राम मंदिर को तोड़ने वाला शख्स

Ram Mandir History: योध्या विवाद की कहानी बेहद पुरानी होने के साथ काफी रोचक है। मंदिर बनने और टूटने की कई ऐसी बातें हैं, जिन्हें लोग जानना चाहते हैं।
श्रीराम मंदिर।
श्रीराम मंदिर। रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। अयोध्या विवाद की कहानी बेहद पुरानी होने के साथ काफी रोचक है। मंदिर बनने और टूटने की कई ऐसी बातें हैं, जिन्हें लोग जानना चाहते हैं। देश में बाबर के आने के बाद राम मंदिर तोड़ा गया था। बाबर के आदेश पर मीर बाकी ने श्रीराम मंदिर को तोड़ा था। वह बाबर का कमांडर था। इतिहासकारों के मुताबिक उसने राम की जन्मस्थली पर बाबरी मस्जिद बनवाई थी। मीर बाकी ने 1528-29 में बाबरी मस्जिद बनवाई थी।

महारानी जयाकुमारी ने मीर बाकी को मार गिराया था

राम मंदिर को बचाने के लिए 500 साल पहले हंसवर स्टेट के राजा रणविजय सिंह ने मीर बाकी से लड़ाई लड़ी थी। रणविजय की सेना बहुत छोटी थी। उन्हें युद्ध में जान गंवानी पड़ी थी, जिसके बाद राजा रणविजय सिंह की पत्नी महारानी जयाकुमारी ने मीर बाकी से लड़ाई लड़ी थी और उसे मार गिराया था। इसके बाद मुगलों ने महारानी पर आक्रमण किया और युद्ध में उनकी मौत हो गई।

अवध प्रांत का गर्वनर था मीर बाकी

मीर बाकी मूल रूप से ताशकंद का रहने वाला था। अब ताशकंद उज्बेकिस्तान में है। बताया जाता है कि उस समय उसे अवध प्रंत का गवर्नर बनाया गया था। श्रीराम मंदिर की जगह पर उसने 1528-29 में बाबरी मस्जिद बनाई थी।

बाबर ने मीर बाकी को अपने दरबार से निकाल दिया था

किसी बात को लेकर बाद में बाबर और मीर बाकी के संबंध खराब हो गए थे। बाबर ने उसे अपने दरबार से निकाल दिया था। मीर बाकी को शाघावाल, बाकी बेग और बाकी मिंगबाशी भी कहा जाता था। मगर, बाबरनामा में उसका नाम मीर ही है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.