Ram Mandir: राम मंदिर में आज विराजेंगे रामलला, अयोध्या धाम में रामलला मंदिर परिसर का करेंगे भ्रमण

Ayodhya: अयोध्याधाम में आज रामलला की मूर्ति परिसर में प्रवेश करेगी। मूर्ति निर्माण स्थल की भी पूजा की गई। चयनित मूर्ति का शुद्धीकरण करते हुए आंखों पर पट्टी बांधी गई। यह पट्टी 22 जनवरी को खोली जाएगी।
Ram Mandir
Ram Mandir Raftaar.in

अयोध्याधाम, हि.स.। अयोध्याधाम के विवेक सृष्टि परिसर से मंगलवार को शुरू रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का सात दिवसीय अनुष्ठान आज से श्रीराम जन्मभूमि परिसर में किया जाएगा। आज रामलला की मूर्ति परिसर में प्रवेश करेगी। मूर्ति को परिसर का भ्रमण कराया जाएगा। विवेक सृष्टि परिसर में प्रायश्चित पूजन और कर्मकुटी पूजन के साथ रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का अनुष्ठान मंगलवार को शुरू हुआ। प्राण प्रतिष्ठा का मुख्य यजमान श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के सदस्य डॉ. अनिल मिश्र को बनाया गया है। कल करीब 3 घंटे तक प्रायश्चित पूजा हुई। इसके बाद यजमान को सरयू स्नान कराया गया। मूर्ति निर्माण स्थल की भी पूजा की गई। चयनित मूर्ति का शुद्धीकरण करते हुए उनकी आंखों पर पट्टी बांधी गई। यह पट्टी 22 जनवरी को खोली जाएगी।

रामलला से मांगी गई क्षमा

प्रायश्चित पूजा के माध्यम से रामलला से क्षमा मांगी गई। ये क्षमा मूर्ति बनाने के दौरान छेनी-हथौड़ी या किसी भी वजह से उन्हें जो चोट लगी होगी, उसके लिए मांगी जाती है। इसके बाद कर्मकुटी पूजन की प्रक्रिया हुई। इस पूजन के बाद मंदिर और प्राण प्रतिष्ठा से जुड़े कार्यक्रम शुरू हो गए।

रामलला के विराजमान होने की घड़ी पास आ रही

लंबी प्रतीक्षा के बाद अयोध्या में रामलला के विराजमान होने की घड़ी पास आ रही है। 22 जनवरी दिन सोमवार को भगवान राम बालस्वरूप में अपने नवनिर्मित मंदिर में विराजित होंगे। लेकिन, 2.70 एकड़ में विकसित किया जा रहा तीन मंजिला मंदिर राम के धाम का महज एक हिस्सा भर है। पूरा धाम जिसे मंदिर परिसर या कॉम्प्लेक्स का नाम दिया गया है, इसे पूरा होने में 1 साल से अधिक का समय लगेगा। 70 एकड़ के इस कॉम्प्लेक्स को अध्यात्म, इतिहास और सुविधाओं के संगम के रूप में विकसित किया जा रहा है, जिससे यहां आने पर श्रद्धालुओं को त्रेतायुगीन परंपराओं और भव्यता का अनुभव हो सके।

रामभक्तों ने शबरी जैसे किया प्रभु श्री राम का इंतजार

आस्था के समुद्र में डूबा भारत देश उस दिन के इंताजर में अपनी पलकों को इस कदर बिछाये बैठा है जैसे सदियों से प्रभु श्री राम का इंताजर करने वाली सबरी जिन्होंने अपनी उम्र के अंतिम दौर में प्रभु श्रीराम के दर्शन कर मोक्ष प्राप्त किया था। ऐसा ही इंतजार देश के लाखों कारसेवक और करोड़ों रामभक्त भी कर रहे हैं, जिन्होंने शुरुआत से लेकर आजतक प्रभु को उनके घर पर आसीन करने के लिये खुद को समर्पित कर दिया। उनका इंतजार खत्म हो रहा है मर्यादा के शिरोमणि प्रभु श्री राम अयोध्या में आ रहे हैं।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.