Ayodhya में भगवान श्रीराम का प्राण प्रतिष्ठा समारोह, ऋषिकेश में इस उपलक्ष्य में जनवरी से होगा भक्ति उत्सव

Rishikesh: राम भक्तों की टोलियां एक जनवरी से प्रत्येक घर में अयोध्या से आए अक्षत(हल्दी लगे चावल )भगवान श्री राम के मंदिर का चित्र व कार्यक्रम संबंधी पत्रक श्रद्धा पूर्वक पहुंचाए जाने का कार्य करेंगे।
Program co-coordinator Neeraj Sehrawat and others attended the meeting
Program co-coordinator Neeraj Sehrawat and others attended the meetingraftaar.in

ऋषिकेश, (हि.स.)। आगामी 22 जनवरी को अयोध्या में आयोजित भगवान श्रीराम के प्राण प्रतिष्ठा समारोह के लिए तीर्थ नगरी ऋषिकेश के गांवों, मोहल्लों और कॉलोनियों में स्थित मंदिरों में राम भक्त एकत्रित होकर हनुमान चालीसा, भजन शंख ध्वनि,घंटे-घड़ियाल बजाने के साथ भगवान की आरती करेंगे। सायंकाल में श्रीराम जय राम, जय जय राम विजय महामंत्र का 108 बार सामूहिक जाप कर अपने घरों को लड़ियों से सजाते हुए पांच दीपक जलाएंगे।

अयोध्या से आए अक्षत कलशों को अपने मोहल्ले के मंदिरों में स्थापित करेंगे

यह निर्णय आदर्श ग्राम स्थित सरस्वती शिशु विद्या मंदिर में आयोजित राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के नगर संघचालक भारत भूषण कुंदनानी की अध्यक्षता और श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के कार्यक्रम संयोजक दीपक तायल के संचालन में आयोजित राम भक्तों की बैठक में लिया गया। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला प्रचारक नितिन कुमार ने बताया कि 25 दिसंबर को जिला स्तर पर सभी समितियां का एक कार्यक्रम त्रिवेणी घाट पर आयोजित किया गया है, जहां जिला टोलियां को अयोध्या से आए अक्षत कलशों का वितरण किया जाएगा। उसके पश्चात 27 दिसंबर को ऋषिकेश की तमाम नगर में बनी टोलियों को अक्षत कलश सौंपे जाएंगे। जिन्हें टोलियां अपने-अपने मोहल्ले में धूमधाम के साथ ले जाए जाने के उपरांत अपने मोहल्ले के मंदिरों में स्थापित करेंगी।

श्री राम जय राम जय जय राम विजय महामंत्र का 108 बार सामूहिक जाप

इसके पश्चात सभी राम भक्तों की टोलियां एक जनवरी से प्रत्येक घर में अयोध्या से आए अक्षत (हल्दी लगे चावल )भगवान श्री राम के मंदिर का चित्र व कार्यक्रम संबंधी पत्रक श्रद्धा पूर्वक पहुंचाए जाने का कार्य करेंगे। और उनसे आग्रह करेंगे कि वह 22 जनवरी को अपने मोहल्ले के व घर में स्थापित किए गए मंदिर में स्थित देवी- देवता का भजन कीर्तन आरती पूजा के साथ श्री राम जय राम जय जय राम विजय महामंत्र का 108 बार सामूहिक जाप करें। साथ ही हनुमान चालीसा, सुंदरकांड ,राम रक्षा स्त्रोत आदि का सामूहिक पाठ भी करें, जिससे सभी देवी- देवता प्रसन्न होंगे और वातावरण सर्वत्र सात्विक एवं राम मय हो जाएगा। इन टोलियों में शामिल राम भक्त यह भी आग्रह करेंगे कि अयोध्या में आयोजित होने वाले 22 जनवरी को प्राण प्रतिष्ठा समारोह को इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से प्रसारित किए जाने वाले सीधे प्रसारण को भी देखें।

अयोध्या में परिवार सहित पहुंचकर भगवान श्री राम के मंदिर के दर्शन करें

दीपक तायल ने बताया कि प्राण प्रतिष्ठा के दिन सांयकाल सूर्यास्त के बाद अपने घर के सामने देवताओं की प्रसन्नता के लिए पांच दीपक अवश्य जलाएं। दीप मालाएं सजा कर खुशियां मनांए, यह कार्यक्रम विश्व के करोड़ों घरों में आयोजित कर भगवान श्री राम के अयोध्या में स्थापित किए जाने वाले मंदिर की खुशी में दीप उत्सव के रूप में मनाया जाएगा। घरों पर जाने वाली सभी राम भक्त टोलियां राजनीति से ऊपर उठकर सभी दलों व सामाजिक राजनीतिक लोगों से यह भी आग्रह करेंगी कि प्राण प्रतिष्ठा के उपरांत प्रभु श्री राम लला के नवनिर्मित मंदिर के दर्शन के लिए वह अपने समय अनुसार अयोध्या में परिवार सहित पहुंचकर भगवान श्री राम के मंदिर के दर्शन करें। बैठक में कार्यक्रम के सह संयोजक नीरज सहरावत, मनमोहन त्यागी, दीपक धमीजा, श्याम बिहारी सहित टोलियां के प्रमुख भी उपस्थित थे।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.