Ayodhya: भारत की प्राचीन संस्कृति के गौरव का बोध करा रही रामनगरी

Ayodhya Ram Mandir: मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्रीराम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा में देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं को जगविख्यात अयोध्या धाम भारत की प्राचीन संस्कृति के गौरव का बोध करा रही है।
Ram Mandir
Ram Mandirraftaar.in

अयोध्या, (हि.स.)। मर्यादा पुरूषोत्तम भगवान श्रीराम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा में देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं को जगविख्यात अयोध्या धाम (रामनगरी) भारत की प्राचीन संस्कृति के गौरव का बोध करा रही है। इसके लिए योगी सरकार विशेष तैयारी कर रखी है। वहीं नगर विकास विभाग अयोध्या धाम की स्वच्छता और दिव्यता को उच्च मानक पर ले जाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी है। 5000 सफाईमित्र, 155 सफाई व अन्य उपयोगी उपकरण, 200 ई-बस व ऑटो और 800 पोर्टेबल टॉयलेट्स जहां पूरी अयोध्या को स्वच्छ व सुंदर बनाने में जुटे हैं, वहीं प्रदूषण मुक्त माहौल भी उपलब्ध करा रहे हैं।

5000 सफाईमित्र, 155 सफाई व अन्य उपयोगी उपकरण भक्तों की सेवा में समर्पित

दरअसल, नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री एके शर्मा श्रीरामलला की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को और भव्य व दिव्य बनाने के लिए सभी नगरीय निकायों को सजग रहने के निर्देश दिए थे। इसके फलस्वरूप सभी नजदीकी निकायों ने मानवबल, मशीन व उपकरणों को अयोध्या भेजा है। 5000 से अधिक सफाई मित्रों ने 24 घंटे काम कर अयोध्या को स्वच्छ बनाया है। 800 पोर्टेबल टॉयलेट, 155 सफाई मशीन व अन्य उपकरण भी लगाए गए हैं।

वायु एवं ध्वनि प्रदूषण से मिली मुक्ति

अयोध्या धाम में श्रद्धालुओं को सुविधाजनक एवं सुलभ परिवहन सेवा उपलब्ध कराने के लिए नगर विकास विभाग की ओर से छह रूटों पर पांच अलग-अलग कलर कोड में 200 इलेक्ट्रिक बस व 25 ई-आटो संचालित हैं। वातानुकूलित इलेक्ट्रिक बसें व ई-ऑटो श्रद्धालुओं के लिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट के रूप में जानी जाएंगी। इससे लोगों को वायु एवं ध्वनि प्रदूषण से मुक्ति मिली है।

सुरक्षा के खास इंतजाम

इन बसों में यात्रियों की सुरक्षा के लिए पांच सीसीटीवी एवं 10 पैनिक बटन की व्यवस्था है और इसे सेफ सिटी परियोजना के अंतर्गत पुलिस हेल्पलाइन डायल यूपी-112 से जोड़ा गया है। अयोध्या धाम बस स्टेशन पर कंट्रोल रूम ( 918853364763) बनाए गए हैं। प्रमुख स्टॉपेज, तीर्थ स्थलों, रेलवे व बस स्टेशनों पर इन इलेक्ट्रिक बसों का रूट मैप भी लगवाया गया है।

शाइनेज बताएंगे अयोध्या धाम का रास्ता, ठंड से बचाव के लिए पर्याप्त व्यवस्था

अयोध्या जाने वाले मुख्य मार्गों पर दुनिया भर की विभिन्न भाषाओं में अयोध्या धाम की दूरी और दिशा दर्शाने वाले शाइनेज लगाए गए हैं। लखनऊ और गोरखपुर नगर निगम ने अयोध्या धाम की बेहतर व्यवस्था के लिए पर्याप्त मैन पावर और मशीनरी शीघ्र उपलब्ध कराई है। श्रद्धालुओं को ठंड से बचाने के लिए शेल्टर होम्स के साथ अलाव की पर्याप्त व्यवस्था की गई है। ठहरने के लिए रैन बसेरा, पेयजल, महिला-़पुरूष के लिए अलग-अलग टॉयलेट बनाए गए हैं। सरयू घाटों पर चेंजिंग रूम बनाए गए हैं।

प्लास्टिक मुक्त होगा अयोध्या धाम, लगाए गए प्लास्टिक कलेक्शन बॉक्स

अयोध्या धाम को प्लास्टिक मुक्त बनाने के लिए नो प्लास्टिक बैग जोन विकसित किए गए हैं। मंदिरों व सार्वजनिक स्थलों के आसपास कपड़ों का बैग उपलब्ध कराने के साथ जगह-जगह प्लास्टिक कलेक्शन बॉक्स भी लगाए गए हैं। सभी क्षेत्रों में ड्रोन कैमरे से कड़ी निगरानी की जा रही है। इंटीग्रेटेड कमांड कंट्रोल सेंटर भी पूरी क्षमता के साथ संचालित है।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.