Kiren Rijiju News: न्यायपालिका से टकराव के कारण छिना रिजिजू का मंत्रालय! जानें इस फैसले के क्या हैं मायने?

रिजिजू के मंत्रालय को बदलकर भू-विज्ञान मंत्रालय दिया गया है। वहीं कानून मंत्रालय की जिम्मेदारी अब राजस्थान से सांसद अर्जुन राम मेघवाल संभालेंगे।
Kiren Rijiju News: न्यायपालिका से टकराव के कारण छिना रिजिजू का मंत्रालय! जानें इस फैसले के क्या हैं मायने?

नई दिल्ली, रफ्तार न्यूज डेस्क। मोदी सरकार ने अपने कैबिनेट में बड़ा बदलाव करते हुए किरेन रिजिजू से कानून मंत्रालय छीन लिया है। उनकी जगह अब अर्जुन राम मेघवाल को कानून मंत्री बनाया गया है। ऐसा माना जा रहा है कि न्यायपालिका से टकराव और आगामी राजस्थान चुनाव को देखते हुए ऐसा फैसला लिया गया है।

न्यायपालिका से सार्वजनिक टकराव पड़ा भारी

कानून मंत्री के न्यायपालिका को लेकर दिये गए बयानों और न्यायपालिका के साथ कानून मंत्री के सार्वजनिक टकराव से सरकार में किरेन रिजिजू को लेकर नाराजगी थी। न्यायपालिका के साथ टकराव, सरकार नहीं चाहती थी कि सार्वजनिक रूप से दिखे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कुछ दिनों पहले कानून मंत्री के न्याय पालिका को लेकर दिए गए बयान से सरकार में नाराजगी थी। हालांकि, कर्नाटक चुनाव की वजह से रिजिजू को कुछ दिनों के लिए जीवन दान मिल गया था। तभी तय हो गया था कि कर्नाटक चुनाव के बाद किरेन रिजिजू से कानून मंत्रालय वापस ले लिए जाएगा, जिसका एलान आज हो गया।  रिजिजू के मंत्रालय को बदलकर भू-विज्ञान मंत्रालय दिया गया है। वहीं, कानून मंत्रालय की जिम्मेदारी अब राजस्थान से सांसद अर्जुन राम मेघवाल संभालेंगे। 

इस फैसले का क्या है चुनावी कनेक्शन?

किरेन रिजिजू की जगह अर्जुन राम मेघवाल को कानून मंत्रालय का जिम्मा देने से भाजपा को आगामी चुनाव में फायदा पहुंचा सकता है। राजस्थान के बीकानेर से लोकसभा सांसद और पूर्व नौकरशाह अर्जुन राम मेघवाल इस बार तीसरी बार सांसद चुने गए हैं। राजस्थान में इस साल होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र मेघवाल की पद्दोन्नति के राजनीतिक वजह भी है। बीकानेर के छोटे से गांव शमीदेसर से आने वाले मेघवाल अनुसूचित जाति से आते हैं। इस फैसले से राजस्थान में BJP को फायदा हो सकता है।

अन्य खबरों को पढ़ने के लिए www.raftaar.in पर जाएं

Related Stories

No stories found.