they-leave-a-spectacular-footprint-on-the-way-to-build-scientific-and-technological-strength
they-leave-a-spectacular-footprint-on-the-way-to-build-scientific-and-technological-strength

वैज्ञानिक और तकनीकी ताकत बनाने के रास्ते पर शानदार पदचिह्न् छोड़ते हैं वे

बीजिंग, 27 मई (आईएएनएस)। चीन में सभी अकादमीशियनों को चीनी विज्ञान अकादमी के अकादमीशियनों और चीनी इंजीनियरिंग अकादमी के अकादमीशियनों के रूप में विभाजित किया गया है। चीनी विज्ञान अकादमी 1949 के नवंबर में स्थापित हुआ, जो चीन के विज्ञान और प्रौद्योगिकी क्षेत्र में सर्वोच्च शैक्षणिक संस्थान है और प्राकृतिक विज्ञान व नई हाई टेक का राष्ट्रीय समग्र अनुसंधान एवं विकास केंद्र भी है। वर्तमान में कुल 802 अकादमीशियन जीवित हैं। दूसरा, 1994 में स्थापित चीनी इंजीनियरिंग अकादमी चीन के इंजीनियरिंग और प्रौद्योगिकी क्षेत्र में सर्वोच्च सम्मान व सलाहकार शैक्षणिक संस्थान है, जो अकादमीशियनों से गठित है। उसका मुख्य कार्य महत्वपूर्ण राष्ट्रीय इंजीनियरिंग विज्ञान और प्रौद्योगिकी मुद्दों पर रणनीतिक अनुसंधान करना, निर्णय लेने का परामर्श प्रदान करना, और इंजीनियरिंग विज्ञान और प्रौद्योगिकी का विकास बढ़ाना है। वर्तमान में कुल 895 अकादमीशियन जीवित हैं। दो अकादमियों के अकादमीशियन चीन की राष्ट्रीय दौलत, राष्ट्र और जनता का गौरव हैं। लंबे समय तक, पीढ़ी दर पीढ़ी वैज्ञानिक गहरी देशभक्ति के साथ अपने गहन शैक्षणिक प्रवीणता और व्यापक वैज्ञानिक ²ष्टिकोण से मातृभूमि और जनता के लिए महत्वपूर्ण ऐतिहासिक योगदान देते हैं। दो बम और एक उपग्रह(परमाणु बम, मिसाइल और कृत्रिम उपग्रह), स्टेम सेल अनुसंधान, मानवयुक्त अंतरिक्ष उड़ान, चंद्र अन्वेषण परियोजना, क्वांटम संचार से फॉक्सिंग बुलेट ट्रेन, हांगकांग-जुहाई-मकाओ ब्रिज, सी-919 बड़े यात्री विमान और स्वनिर्मित विमानवाहक पोत तक चीन वैज्ञानिक और तकनीकी विकास में दिन दोगुनी रात चौगुनी तरक्की कर रहा है। नवाचारों के प्रमुख परिणाम निरंतर सामने आ रहे हैं, जिसने न केवल चीन के आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए मजबूत समर्थन प्रदान किया, बल्कि राष्ट्रीय रक्षा व सुरक्षा में ऐतिहासिक योगदान दिया और साथ ही विज्ञान और प्रौद्योगिकी में चीन को विश्व स्तरीय ताकत बनाने के लिए महत्वपूर्ण आधार भी रखा। बता दें कि वैज्ञानिक और तकनीकी प्रक्रिया में उत्कृष्ट योगदान देने वाले नागरिकों और संगठनों को पुरस्कृत करने, वैज्ञानिकों व तकनीकी कार्यकतार्ओं के उत्साह और रचनात्मकता को बढ़ाने, वैज्ञानिक व तकनीकी कार्य के विकास को गति देने, और समग्र राष्ट्रीय शक्ति को उन्नत करने के लिए चीनी राज्य परिषद ने 2000 में राष्ट्रीय सर्वोच्च वैज्ञानिक व प्रौद्योगिकी पुरस्कार स्थापित किया। प्रति वर्ष इस पुरस्कार के विजेताओं की संख्या 2 से अधिक नहीं है। जनवरी 2020 तक, कुल 33 उत्कृष्ट वैज्ञानिक कर्मचारियों को इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया। उनमें से 32 दो अकादमियों के अकादमीशियन हैं और एक मेडिसिन में नोबेल पुरस्कार विजेता बनी पहली चीनी वैज्ञानिक हैं। उन 33 चीन के शीर्ष वैज्ञानिकों ने चीन के तकनीकी व वैज्ञानिक विकास में विशाल योगदान दिया है। (साभार-चाइना मीडिया ग्रुप, पेइचिंग) --आईएएनएस एएनएम

Related Stories

No stories found.