pakistan39s-supreme-court-dashed-the-hopes-of-the-opposition
pakistan39s-supreme-court-dashed-the-hopes-of-the-opposition

पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने विपक्ष की उम्मीदों पर फेरा पानी

इस्लामाबाद, 4 अप्रैल (आईएएनएस)। पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने विपक्ष और बार की उम्मीदों पर पानी फेर दिया है। पाकिस्तान के विपक्ष को उम्मीद थी कि संविधान के अनुच्छेद 5 के आधार पर प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को खारिज करने वाले नेशनल असेंबली (एनए) के स्पीकर के खिलाफ आदेश जारी किया जाएगा। सुप्रीम कोर्ट के कई न्यायाधीशों ने संवैधानिक स्थिति के बारे में अपनी चिंता साझा करने के लिए रविवार को पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश उमर अता बंदियाल से उनके आवास पर मुलाकात की। जानकारी के अनुसार शीर्ष अदालत के न्यायाधीशों ने मुख्य न्यायाधीश से इस मामले की सुनवाई के लिए पूर्ण न्यायालय का गठन करने का आग्रह किया था। हालांकि, मुख्य न्यायाधीश बंदियाल ने न्यायमूर्ति इजाजुल अहसन को मामले में शामिल किया। इजाजुल अहसन ने पनामा गेट मामले में निगरानी न्यायाधीश के रूप में काम किया था। न्यायमूर्ति अहसन कई विशेष और बड़ी पीठों का हिस्सा हैं जिन्होंने पिछले पांच वर्षों में कई संवैधानिक मामलों की सुनवाई की है। इसी तरह न्यायाधीशों की वरिष्ठता सूची में 15वें स्थान पर रहने वाले न्यायमूर्ति मुहम्मद अली मजहर भी पीठ का हिस्सा हैं वरिष्ठ वकीलों का मानना है कि सुप्रीम कोर्ट के जजों के बीच डिवीजन को लेकर धारणा अभी खत्म नहीं हुई है। इस धारणा को ध्यान में रखते हुए वकीलों ने कहा कि चीफ जस्टिस बंदियाल को एक बड़ी बेंच बनानी चाहिए, जिसमें कोई भी पक्षपात का आरोप न लगा सके। रिपोर्ट के अनुसार दूसरी ओर, विपक्ष का एक वर्ग मौजूदा राजनीतिक स्थिति से खुश है कि प्रधानमंत्री खान रविवार को प्रधानमंत्री कार्यालय से बाहर हो गए है। पता चला है कि जेयूआई-एफ भी मौजूदा हालात से खुश है क्योंकि उनका मकसद खान को प्रधानमंत्री पद से हटाना है। पीएमएल-एन पहले से ही जल्दी चुनाव होन को लेकर बंटा हुआ है। वहीं नवाज शरीफ के नेतृत्व वाला गुट पहले से ही जल्द चुनाव की मांग कर रहा था। --आईएएनएस एमएसबी/एएनएम

Related Stories

No stories found.