Maldives Controversy: भारत की नाराजगी मालदीव को खतरा! मालदीव की अर्थव्यवस्था भारतीय पर्यटकों पर निर्भर

Maldives Controversy: मालदीव में भारतीय उच्चायुक्त मुनु महावर ने माले में वहां की मोहम्मद मोइजू सरकार के साथ यह मामला(अपमानजनक टिप्पणी) उठाया है।
Narendra Modi, Akshay Kumar and Sachin Tendulkar
Narendra Modi, Akshay Kumar and Sachin Tendulkarraftaar.in

नई दिल्ली, (हि.स.)। मालदीव में भारतीय उच्चायुक्त मुनु महावर ने माले में वहां की मोहम्मद मोइजू सरकार के साथ यह मामला(अपमानजनक टिप्पणी) उठाया है। भारत के मामला उठाने के बाद वहां की सरकार का आधिकारिक बयान आया है कि मंत्री शिउना की राय व्यक्तिगत थी और यह सरकार की सोच को प्रदर्शित नहीं करती। बयान में यह भी कहा है कि सरकार इस तरह के आपत्तिजनक बयानों पर कार्रवाई करने से पीछे नहीं हटेगी। अभिव्यक्ति की आजादी का उपयोग जिम्मेदार ढंग से किया जाना चाहिए।

मंत्रियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ रविवार अपमानजनक टिप्पणी की थी

मालदीव सरकार ने अपने तीन मंत्रियों मरियम शिउना, मालशा शरीफ और महज़ूम माजिद के खिलाफ बड़ा एक्शन लेते हुए उन्हें सस्पेंड कर दिया है। इन तीनो मंत्रियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ रविवार अपमानजनक टिप्पणी की थी। मालदीव सरकार यह फैसला, उनके पर्यटन का बड़ा हिस्सा भारत के पर्यटकों पर निर्भर होने के कारण ही लिया गया है। अगर मालदीव सरकार यह एक्शन नहीं लेती तो इसका बुरा असर उनकी इकोनॉमी पर पड़ सकता था।

‘जोकर’ और ‘इजराइल की कठपुतली’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया

मालदीव की युवा सशक्तीकरण, सूचना और कला उपमंत्री मरियम शिउना ने प्रधानमंत्री मोदी की लक्षद्वीप यात्रा की तस्वीरें पोस्ट करने के बाद अपमानजनक टिप्पणी की थी। मरियम ने उनके के लिए ‘जोकर’ और ‘इजराइल की कठपुतली’ जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया था। हालांकि बाद में उन्होंने ये ट्वीट हटा लिए लेकिन उनके बयान पहले ही काफी नुकसान कर चुके थे।

मालदीव टूरिज्म में निर्भर, सबसे ज्यादा पर्यटक भी भारत से यहां आते हैं

मालदीव की अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी उसका टूरिज्म है, जो कि विदेशी मुद्रा आय और सरकारी राजस्व का बड़ा सोर्स है। पर्यटन मालदीव की जीडीपी का लगभग चौथाई हिस्सा है। यह जीडीपी का बहुत बड़ा हिस्सा है। मालदीव के अधिकतर लोग पर्यटन पर ही निर्भर है। अगर पर्यटन का रोजगार के मामले में हिस्सेदारी की बात करें तो इसका योगदान एक तिहाई से अधिक है। अगर इससे जुड़े क्षेत्रो को इसमें शामिल करें तो कुल रोजगार में पर्यटन का योगदान 70 फीसदी के करीब है। जब मालदीव की अर्थव्यवस्था ही पूरी तरह से उसके टूरिज्म में निर्भर है और सबसे ज्यादा पर्यटक भी भारत से यहां आते हैं तो इस स्थिति में मालदीव सरकार कैसे रिस्क ले सकती थी। इसलिए मालदीव सरकार ने तुरंत इस मामले में एक्शन लेते हुए अपने को इससे अलग किया।

फिल्म और कला जगत की हस्तियां लोगों से लक्षद्वीप जाने की अपील कर रही हैं

मालदीव की मंत्री के माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट पर इस पोस्ट की जबर्दस्त प्रतिक्रिया हो रही है। सोशल मीडिया पर मालदीव भी ट्रेंड कर रहा है। प्रधानमंत्री की लक्षद्वीप आने की अपील को मालदीव में उनके देश के विकल्प के तौर पर देखा जा रहा है। साथ ही वहां चुनी गई नई सरकार चीनी प्रभाव की मानी जा रही है। प्रधानमंत्री मोदी के लक्षद्वीप जाने के बाद वहां की सुंदरता से जुड़ी तस्वीर देख सोशल मीडिया पर फिल्म और कला जगत की हस्तियां लोगों से वहां जाने की अपील कर रही हैं।

अभिनेता अक्षय कुमार का ट्वीट

अभिनेता अक्षय कुमार ने ट्वीट कर कहा कि मालदीप की प्रमुख हस्तियां भारतीयों पर घृणित और नक्सलवादी टिप्पणियां कर रही हैं। आश्चर्य है कि वह एक ऐसे देश के बारे में कह रहे हैं जहां से सबसे ज्यादा पर्यटक वहां जाते हैं। हम अपने पड़ोसियों के प्रति अच्छे हैं लेकिन हमें ऐसी अकारण नफरत क्यों बर्दाश्त करनी चाहिए। उन्होंने स्वयं कई बार मालदीव का दौरा किया है और हमेशा इसकी प्रशंसा की है लेकिन उनके लिए गरिमा पहले आती है। हम भारतीयों को अपने द्वीपों का अन्वेषण करना चाहिए और स्वयं अपने देश के पर्यटन का समर्थन करना चाहिए।

पूर्व भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी आकाश चोपड़ा का बयान

पूर्व भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी आकाश चोपड़ा ने कहा कि मालदीव की सरकार के मेनिफेस्टो में भारत को बाहर करो का नारा था। मालदीप ने इसके लिए वोट किया है। अब हम भारतीयों को चाहिए कि हम सोच समझकर निर्णय लें।

सलमान खान और अभिनेत्री श्रद्धा कपूर

सलमान खान सोशल मीडिया पर लिखते हैं कि लक्षद्वीप के सुंदर, स्वच्छ और आश्चर्यजनक समुद्र तटों पर प्रधानमंत्री मोदी को देखकर अच्छा लगा। सबसे अच्छी बात यह है कि यह हमारे देश में है। फिल्म अभिनेत्री श्रद्धा कपूर ने एक्सप्लोरइंडियनआइसलैंड के नाम से एक सोशल मीडिया पोस्ट में कहा कि यह छवियां बता रही हैं कि लक्षद्वीप में ऐसे प्राचीन समुद्र तट और तट रेखाएं हैं, स्थानीय संस्कृति समृद्ध है। वह वहां छुट्टियां बिताने के लिए बेकरार हैं।

जॉन इब्राहिम ने भी लक्ष्यद्वीप की सुंदर तस्वीरें साझा की हैं

जॉन इब्राहिम ने भी लक्ष्यद्वीप की सुंदर तस्वीरें साझा की हैं। अतिथि देवो भवः की बात लिखी है और कहा है कि विचार और विशाल समुद्री जीवन की खोज के साथ लक्षद्वीप जाने लायक जगह है।

क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर

क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने भी एक्सप्लोर इंडियन आइसलैंड#के साथ अतिथि देवो भवः की सोच और भारत की खूबसूरत जगह की खोज और उससे जुड़ी हुई यादें समेटने की सलाह दी है। उन्होंने कहा है कि भारत को सुंदर तट रेखाओं और बेहद ही शानदार द्वीपों से नवाजा गया है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.