TIME: दुनिया की 100 सबसे प्रभावशाली हस्तियों में आलिया भट्ट और साक्षी मलिक, पहलवान को जगह देने की वजह जानें

Indian in TIME Influential List : भारतीय कुश्ती महासंघ के पूर्वअध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह द्वारा महिला पहलवानों के कथित यौन उत्पीड़न के खिलाफ लड़ाई के लिए साक्षी को इस सूची में शामिल किया गया है।
टाइम मैगजीन में आलिया भट्‌ट और साक्षी मलिक को जगह।
टाइम मैगजीन में आलिया भट्‌ट और साक्षी मलिक को जगह।रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। विश्व प्रसिद्ध टाइम मैगजीन ने दुनिया भर के 100 प्रभावशाली हस्तियों की लिस्ट जारी की है। टाइम इंफ्लूएंशियल लिस्ट 2024 में कारोबार जगत से माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला, एनविडिआ के अध्यक्ष जेनसन हुआंग, बीवाईडी कार्स के सीईओ वांग चुआनफू और आईकिया ग्रुप के सीईओ जेस्पर ब्रॉडिन जैसे बड़े नाम हैं। वहीं कुछ भारतीयों का भी नाम हैं, जिनमें एक्ट्रेस आलिया भट्ट, ओलंपिक पदक विजेता भारतीय पहलवान साक्षी मलिक शामिल हैं।

भारतीय मूल की रेस्तरां मालकिन अस्मा खान भी लिस्ट में

लिस्ट में अमेरिकी ऊर्जा विभाग के निदेशक जिगर शाह, खगोल विज्ञान के प्रोफेसर एवं येल विश्वविद्यालय में भौतिकी के प्रोफेसर प्रियंवदा नटराजन भी हैं। भारतीय मूल की रेस्तरां मालकिन अस्मा खान और रूसी विपक्षी नेता एलेक्सी नवलनी की विधवा यूलिया नवलनाया को भी जगह दी गई है।

कौन हैं साक्षी मलिक और क्यों प्रभावशालियों की लिस्ट में?

कुश्ती में भारत की इकलौती महिला ओलंपिक पदक विजेता साक्षी को भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के पूर्व अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह द्वारा महिला पहलवानों के कथित यौन उत्पीड़न के विरुद्ध लड़ाई लड़ने के लिए इस लिस्ट में जगह दी गई है। साक्षी ने दो बार की विश्व चैंपियनशिप की कांस्य पदक विजेता विनेश फोगाट और तोक्यो ओलंपिक के कांस्य विजेता बजरंग पूनिया के साथ दिल्ली स्थित जंतर-मंतर पर बृजभूषण शरण सिंह के विरोध में प्रदर्शन का नेतृत्व किया था। इन्होंने उनकी गिरफ्तारी की भी मांग की थी।

कुश्ती से ले लिया है संन्यास

यह प्रदर्शन पिछले साल जनवरी में शुरू हुआ था। इसके बाद सिंह के विरुद्ध यह लड़ाई एक साल चली। उनके खिलाफ आरोप-पत्र दायर किया गया था, लेकिन वह आरोपों से इनकार करते रहे साक्षी ने कहा था कि यह लड़ाई अब सिर्फ देश की महिला पहलवानों के लिए नहीं है। यह देश की बेटियों के लिए है, जिनकी आवाज दबाई गई। सिंह के पद छोड़ने के कुछ समय बाद उनके करीबी सहयोगी एवं बिजनेस पार्टनर संजय सिंह को डब्ल्यूएफआई का अध्यक्ष चुना गया। संजय ने जिस दिन डब्ल्यूएफआई का अध्यक्ष पद संभाला, उसी दिन साक्षी ने कुश्ती से संन्यास ले लिया था।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.