जर्मनी में विदेश मंत्री जयशंकर अमेरिकी और ब्रिटिश समकक्ष से मिले, द्विपक्षीय संबंधों को लेकर हुई बातचीत

Germany: जर्मनी में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शुक्रवार को अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन और ब्रिटिश समकक्ष डेविड कैमरन के साथ द्विपक्षीय सहयोग और प्रमुख वैश्विक और क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा की।
Foreign Minister Jaishankar
Foreign Minister Jaishankarraftaar.in

म्यूनिख, (हि.स.)। जर्मनी में विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शुक्रवार को अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन और ब्रिटिश समकक्ष डेविड कैमरन सहित प्रमुख नेताओं के साथ द्विपक्षीय सहयोग और प्रमुख वैश्विक और क्षेत्रीय मुद्दों पर चर्चा की। यह बैठक म्यूनिख सुरक्षा सम्मेलन के मौके पर हुई।

इस दौरान द्विपक्षीय संबंधों में जारी प्रगति की समीक्षा की गई

जयशंकर ने एक्स पोस्ट में कहा कि ब्लिंकन के साथ बैठक प्रमुख द्विपक्षीय मुद्दों के साथ-साथ पश्चिम एशिया, यूक्रेन और हिंद-प्रशांत की स्थिति पर केंद्रित थी। इस दौरान द्विपक्षीय संबंधों में जारी प्रगति की समीक्षा की गई। समझा जाता है कि दोनों ने भारत-अमेरिका रणनीतिक संबंधों के विभिन्न पहलुओं पर विचार-विमर्श किया। इससे पहले विदेश मंत्री ब्रिटिश समकक्ष कैमरन के साथ भी बैठक की। वह पेरू और बुल्गारिया के मंत्रियों से भी मिले। उन्होंने कहा कि कैमरन के साथ द्विपक्षीय सहयोग के साथ-साथ वैश्विक और क्षेत्रीय मुद्दों पर अच्छी चर्चा हुई। मंत्री ने गुजरात में चल रहे भारत बनाम इंग्लैंड टेस्ट मैच का जिक्र करते हुए कहा कि इस पर भी विचारों का आदान-प्रदान किया गया। एक अन्य महत्वपूर्ण बैठक यूरोपीय संघ के विदेश मामलों और सुरक्षा नीति के उच्च प्रतिनिधि जोसेप बोरेल फान्टेल्स के साथ थी।

मारिया गेब्रियल के साथ बढ़ते द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा की

जयशंकर ने पेरू के विदेश मंत्री जेवियर गोंजालेज-ओलेचिया के साथ संयुक्त राष्ट्र सुधार और आर्थिक सहयोग के बारे में बात की और बुल्गारिया की उप प्रधान मंत्री और विदेश मामलों की मंत्री मारिया गेब्रियल के साथ बढ़ते द्विपक्षीय संबंधों पर चर्चा की।

उन्होंने गेब्रियल के साथ यूक्रेन संघर्ष पर विचारों का आदान-प्रदान किया

उन्होंने गेब्रियल के साथ यूक्रेन संघर्ष पर विचारों का आदान-प्रदान किया और जलवायु परिवर्तन से निपटने के वैश्विक प्रयास में सौर ऊर्जा के उपयोग को बढ़ाने के लिए प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी के वन वर्ल्ड वन ग्रिड के दृष्टिकोण के हिस्से के रूप में भारत द्वारा शुरू किए गए अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन में शामिल होने के बुल्गारिया के फैसले का स्वागत किया।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.