पेट के अंदर ही बन रही शराब, पिये बिना ही होने लगता है नशा, क्या है ये कंडीशन?

एक मेडिकल कंडीशन ऐसी भी है जिसमें पेट के अंदर ही शराब बनने लगती है।
Auto Brewery Syndrome
Auto Brewery SyndromeFreepik

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। शराब पीकर गाड़ी चलाना कानूनन अपराध है। ज्यादातर देशों में यही कानून है। पर एक शख्स शराब पिये बिना ही ट्रैफिक पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पता चला कि उसके पेट में अपने आप शराब बन जाती है। मामला बेल्जियम का है, यहां एक शख्स को एक अदालत ने ड्रिंक एंड ड्राइव मामले से बरी कर दिया। क्योंकि जिस शख्स पर शराब पीकर गाड़ी चलाने का आरोप लगा था, असल में उसने शराब पी नहीं थी, बल्कि उसके पेट में ही शराब बन जा रही है। ऐसा Auto Brewery Syndrome की वजह से हो रहा था।

क्यों बन जा रही पेट में शराब?

इस कंडीशन का नाम है ऑटो ब्रूअरी सिंड्रोम यानी ABS। ये एक रेयर कंडीशन है। हेल्थ लाइन की एक रिपोर्ट के अनुसार, इस बीमारी में व्यक्ति जो कार्ब्स खाता है वो आंतों में मौजूद यीस्ट और फंगस से रिएक्ट करने लगता है और इससे पेट में शराब बनने लगती है। पेट में बहुत ज्यादा यीस्ट होने पर ये कंडीशन पैदा हो सकती है। वहीं, शरीर में किसी तरह के इम्बैलेंस होने पर या इंफेक्शन होने पर भी ऑटो ब्रूअरी सिंड्रोम हो सकता है। हेल्थलाइन की रिपोर्ट कहती है कि ये सिंड्रोम बच्चों और बड़ों दोनों को ही हो सकता है।

डॉक्टर्स की मानें तो कोई व्यक्ति इस बीमारी के साथ पैदा नहीं होता है। ज्यादातर मामलों में दूसरी बीमारियों के चलते ये कंडीशन ट्रिगर होती है। कुछ केसेस में देखा गया है कि लिवर इंफेक्शन हो

क्या है सिंड्रोम के लक्ष्ण

इस सिंड्रोम के मुख्य लक्षण हैं- शराब पिये बिना ही नशा होना और थोड़ी सी शराब का बहुत ज्यादा नशा हो जाना। इसके लक्षण हल्के नशे के समान होते हैं। सिर घूमना, ज्यादा नशा होने पर सिर में दर्द, उल्टी होना, डीहाइड्रेशन, मूड स्विंग, आदि इसके मुख्य लक्षणों में से एक हैं।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.