शिक्षा के विकास से होगा बाल श्रम मुक्त भारत का निर्माण : प्रो. संजय गौतम
शिक्षा के विकास से होगा बाल श्रम मुक्त भारत का निर्माण : प्रो. संजय गौतम

शिक्षा के विकास से होगा बाल श्रम मुक्त भारत का निर्माण : प्रो. संजय गौतम

बेगूसराय, 12 जून (हि.स.)। अंतरराष्ट्रीय बाल श्रम उन्मूलन दिवस के मौके पर शुक्रवार को जिला में विविध कार्यक्रम आयोजित किए गए। इस अवसर पर नागरिक कल्याण संस्थान द्वारा प्रो. संजय गौतम के नेतृत्व में जयमंगलागढ़, कैथ एवं वन्द्वार के स्लम बस्ती में जाकर बच्चों के बीच बिस्कुट, चॉकलेट वितरण के साथ अच्छी जिदंगी जीने का टिप्स दिया गया। संजय गौतम ने कहा कि बच्चों को मुख्यधारा में लाने के लिए शिक्षा से जोड़ना जरूरी है, इसके लिए अभिभावक बच्चों को नियमित स्कूल भेजें। आज भी गरीबी के कारण देश में 30 प्रतिशत बच्चे स्कूल की शिक्षा व्यवस्था से दूर हैं। आर्थिक तंगी, माता-पिता की बीमारी के कारण वह किसी ना किसी रूप में अपने जीवन को बाल श्रम के रूप में बिता रहे हैं। सरकार की नीति में शिक्षा मौलिक अधिकार है। लेकिन पेट की भूख उन गरीबों के बच्चों के हाथ में कलम की जगह औजार पकड़वा देती है। इसी माह बिहार के 118 तथा बेगूसराय में छह बाल श्रमिक मुक्त होकर जयपुर से बेगूसराय आए। अच्छे भारत के निर्माण के लिए समाज के पिछले पंक्ति में खड़े, झोपड़ी में रह रहे बच्चों को भी सुविधा एवं सरकार की योजनाओं का लाभ मिले। ताकि वह समाज की मुख्यधारा में आकर एक अच्छे इंसान बन सकें। बेगूसराय में 56 बालश्रमिक स्कूल चलते थे, जो 2016 से बंद हो गए हैं। जागरुकता, प्रबंधन के साथ सामाजिक संरचनाओं का विकास, समय-समय पर जरुरत के हिसाब से सरकारी योजनाओं का लाभ झोपड़ी में रहने वालों को मिलना चाहिए। छात्रसंघ महासचिव बादल कुमार, राजेश हिसारिया, विनोद गुप्ता, सतीश कुमार वीरु, शिव कुमार, सुधा कुमारी, पल्लवी गुप्ता, अंजली प्रिया ने भी इस दौरान बच्चोंं एवं उनके अभिभावकों शिक्षा के प्रति जागरूक किया। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र/चंदा-hindusthansamachar.in

Related Stories

No stories found.