from-the-battle-of-corona-to-the-misleading-opposition-of-the-central-vista-project---kedar-kashyap
from-the-battle-of-corona-to-the-misleading-opposition-of-the-central-vista-project---kedar-kashyap

कोरोना की लड़ाई से लेकर सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट का विरोध गुमराह करने वाला - केदार कश्यप

राज्य सरकार ने यह नही बताया कि उन्होंने किन कम्पनियों को कितनी वैक्सीन का आर्डर दिया जगदलपुर, 12 मई(हि.स.)। भाजपा प्रदेश प्रवक्ता व पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे पत्र व उसमें छत्तीसगढ़ के विधानसभा भवन के उल्लेख को कांग्रेस के चरित्र पर करारा तमाचा बताते हुए कहा है कि कांग्रेस व कांग्रेस के नेताओं का आचरण हमेशा दोहरेपन व तुच्छता का रहा है। कोरोना की लड़ाई से लेकर सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट तक कांग्रेस का विरोध जनता को गुमराह करने वाला, झूठ फैलाने वाला व दहशतगर्दी का रहा है।कांग्रेस पार्टी कोरोना से लड़ाई करने के बजाय मोदी से लड़ाई में लगी हुई है। श्री कश्यप ने कहा कि एक तरफ श्रीमती सोनिया गांधी, राहुल गांधी और कांग्रेस पार्टी कोरोना काल की दुहाई देते हुए सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट का विरोध कर रही है, और वहीं दूसरी ओर उनके संरक्षण में छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार, हजारों करोड़ रूपये खर्च कर नई राजधानी क्षेत्र में आवश्यकता नहीं होने पर भी कोरोना काल में विधानसभा भवन, मुख्यमंत्री महल, मंत्री महल व हज महल बना रही है। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को यह बताना चाहिए कि छत्तीसगढ़ में विधानसभा भवन, मुख्यमंत्री निवास, मंत्रिगणों के निवास के रहते हजारों करोड़ रूपये खर्च कर नये महल बनाने की क्या आवश्यकता है। उन्हें यह भी बताना चाहिए कि सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट, जिसकी यूपीए सरकार में तत्कालीन लोकसभा अध्यक्षा मीरा कुमार ने आवश्यकता को रेखांकित किया था। अब इसी प्रोजेक्ट का किस मुंह से विरोध कर रहे हैं। केदार कश्यप ने कहा कि कांग्रेस ने पहले लॉकडाउन का विरोध किया, अब सभी कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्री खुद लॉक डाउन लगा रहे है और राहुल गांधी समूचे देश में लॉक डाउन लगाने की बात कह रहे हैं। पूर्व में कांग्रेस ने खुलेआम टीकाकरण का विरोध कर देश के वैज्ञानिकों का अपमान किया। प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री टीएससिंहदेव ने तो यहां तक कहा था कि वे छत्तीसगढ़ की जनता को को वैक्सीन नही लगवायेगें और केन्द्र सरकार को कोवैक्सीन की खेप छत्तीसगढ़ में नहीं भेजने का फरमान सुना दिया था। श्री कश्यप ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने छत्तीसगढ़ राज्य के 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगो के लिए 70 लाख वैक्सीन में से अब तक 65 लाख वैक्सीन नि:शुल्क उपलब्ध करा दिया है। वही दूसरी ओर प्रदेश की कांग्रेस सरकार को 18 से 44 वर्ष तक के युवाओं के लिए 1 करोड़ 35 लाख वैक्सीन की व्यवस्था करनी थी। जिसके इंतजाम करने में अब छत्तीसगढ़ सरकार के हाथ पैर फूल रहे है। राज्य सरकार ने अभी तक यह नही बताया कि उन्होंने कब व किन कम्पनियों को कितनी वैक्सीन का आर्डर दे दिया है और कितने रुपये एडवांस में दिये हैं। उल्टे टीकाकरण को ही वर्ग भेद व आरक्षण की भेट चढ़ाकर पूरेप्रदेश में अराजक हालात मौजूदा कांग्रेस सरकार ने पैदा कर दिये है।छत्तीसगढ़ देश में एक मात्र राज्य है,जहां कांग्रेस ने वैक्सीनेशन में भी आरक्षण लागू कर दिया है। हिन्दुस्थान समाचार/राकेश पांडे

Related Stories

No stories found.