Randeep Hooda की फिल्म Swatantra Veer Savarkar हुई रिलीज, घर बेच कर बनाई थी फिल्म

रणदीप हुड्डा के निर्देशक में बनी फिल्म 'स्वतंत्र वीर सावरकर' आज सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है। फिल्म में रणदीप हुड्डा के साथ अंकिता लोखंडे भी है।
Swatantra Veer Savarkar Movie
Swatantra Veer Savarkar Moviewww.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क। रणदीप हुड्डा की फिल्म 'स्वातंत्र्यवीर सावरकर' आज सिनेमाघरों में रिलीज हुई। फिल्म में टीवी एक्ट्रेस अंकिता लोखंडे भी अहम भूमिका में हैं। फिल्म का दमदार ट्रेलर हाल ही में रिलीज हुआ था, जिसे दर्शकों का अच्छा रिस्पॉन्स मिला। तभी से फैंस इस ऐतिहासिक बायोपिक फिल्म का बेसब्री से इंतजार कर रहे थे।

इतना कमा सकती है फिल्म

फिल्म ट्रेड एनालिस्ट इस बात को लेकर भविष्यवाणी कर रहे हैं कि फिल्म पहले दिन कैसा प्रदर्शन करेगी और कितनी कमाई करेगी। फिल्म विश्लेषकों के मुताबिक, रणदीप हुड्डा की 'स्वातंत्र्यवीर सावरकर' पहले दिन 1-2 करोड़ रुपये की कमाई कर सकती है। आउटलुक की रिपोर्ट के मुताबिक, यह मौजूदा अनुमान है। दर्शकों की प्रतिक्रिया के आधार पर फिल्म का कलेक्शन बढ़ भी सकता है।

फिल्म के लिए बेच दिया घर


मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक इंटरव्यू के दौरान रणदीप हुड्डा ने कहा था कि 'स्वातंत्र्यवीर सावरकर' बनाने के लिए उन्होंने कड़ी मेहनत की है। उन्होंने घर बेचकर ये फिल्म बनाई। हाल ही में सोशल मीडिया पर रणदीप की एक फोटो वायरल हो रही थी, जिसमें एक्टर काफी वजन कम करते नजर आ रहे थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक, विनायक दामोदर सावरकर बनने के लिए रणदीप हुड्डा ने 30 किलो वजन कम किया। रणदीप हुड्डा की बहन अंजलि हुड्डा इस फिल्म से बॉलीवुड में डेब्यू कर रही हैं। उन्होंने खुलासा किया कि उनकी मां भाई रणदीप के बदलाव को देखकर बहुत भावुक थीं, जबकि उनके पिता गुस्से में थे। उनके पिता ने तो रणदीप को काम करना बंद करने तक के लिए कह दिया था। काफी मेहनत से बनाई गई इस फिल्म से रणदीप हुडा को काफी उम्मीदें हैं।

कैसी है फिल्म

अभिनेता रणदीप हुड्डा ने फिल्म ‘स्वातंत्र्य वीर सावरकर’ से निर्देशन के नए क्षेत्र में कदम रखा है। करीब तीन घंटे लंबी फिल्म शुरुआत में आपको इसके किरदारों के साथ जोड़ती है। फिल्म का इंटरवल एक बेहद रोचक मोड़ पर होता है। इस फिल्म में उन्होंने अच्छा काम किया, लेकिन निर्देशक के तौर पर वह असफल नजर आए। फिल्म में कुछ ऐसे दृश्य भी हैं, जिन्हें केवल सावरकर को गहराई से जानने वाले ही समझ सकते हैं। फिल्म में कई ऐसे सीन हैं, जो दर्शकों के मन में भ्रम और कई लोगों के मन में सवाल भी पैदा करते हैं। इतना ही नहीं, फिल्म में दिखाए गए इतिहास को काफी तोड़-मरोड़ कर पेश किया गया है। इस सबके बावजूद अगर आप आजादी की लड़ाई के बारे में जानने की दिलचस्पी रखते हैं तो आप जरूर इस फिल्म का टिकट ले सकते हैं।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें- Hindi News Today: ताज़ा खबरें, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, आज का राशिफल, Raftaar - रफ्तार:

Related Stories

No stories found.