Surbhi Chandana की शादी के लिए टीम ने मुफ्त में मांगे कपड़े, डिजाइनर ने ऐसा जवाब दिया कि सब तारीफ कर रहे

फैशन डिजाइनर आयुष केजरीवाल ने टीवी एक्ट्रेस सुरभि चांदना पर फ्री में कपड़े मांगने का खुलासा किया। जिसका वीडियो अपने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर किया...
टीवी एक्ट्रेस सुरभि चांदना
टीवी एक्ट्रेस सुरभि चांदनाgoogle

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क। टीवी एक्ट्रेस सुरभि चांदना जल्दी शादी के बंधन में बंधने जा रही हैं। एक्ट्रेस ने अपनी शादी की खुशखबरी सोशल मीडिया के जरिए साझा की है। उनकी शादी 1 मार्च को जयपुर में हो रही है। हालांकि, अब फैशन डिजाइनर आयुष केजरीवाल ने सुरभि की टीम पर फ्री में कपड़े मांगने का आरोप लगाया है।

अपनी शादी के लिए फ्री में कपड़े कौन मांगता है भाई

आयुष केजरीवाल ने इंस्टाग्राम पर एक रील शेयर किया है। इस रील में सुरभि की टीम द्वारा भेजे गए चैट का स्क्रीनशॉट भी है। इसमें एक्ट्रेस की स्टाइलिस्ट सांची विजयवर्गीय ने अलग-अलग फंक्शन के लिए ड्रेस सोर्स करने को लेकर मैसेज किया है। उन्होंने मेहंदी, हल्दी, फेरे, रिसेप्शन के लिए ड्रेस सोर्स करने को लेकर रिक्वेस्ट किया है, साथ ही लिखा है कि बदले में डिजाइनर को सोशल मीडिया पर ड्रेस कर्टसी और मेंशन दिए जाएंगे।

डिजाइनर ने लताड़ा

आयुष केजरीवाल ने अपनी रील में कहा कि सेलिब्रिटी जयपुर में महंगी शादी कर सकते हैं तो उन्हें अपनी शादी के कपड़ों के लिए पैसे भी खुद ही देने चाहिए। रील में दिख रहा है कि सुरभि की स्टाइलिस्ट के मैसेज के जवाब में आयुष ने लिखा कि वो किसी सेलिब्रिटी को उनकी शादी के लिए फ्री में कपड़े नहीं देंगे।

डिजाइनर के वीडियो पर क्या बोले फैन्स?

वीडियो आने के बाद कुछ यूजर्स एक्ट्रेस को सपोर्ट कर रहे हैं। उनका कहना है कि कई डिजाइनर्स और फोटोग्राफर इसी तरीके से अपनी पब्लिसिटी करते हैं। ऐसे में सुरभि की टीम ने इस बारे में पूछ लिया तो गलत क्या किया? हालांकि, ज्यादातर लोग आयुष के स्टैंड की तारीफ कर रहे हैं। एक यूजर ने कहा, "वैसे तो आपका ज्यादातर कलेक्शन मेरे बजट से बाहर का है, फिर भी मैं आपकी बात से सहमत हूं।" वहीं, शरद अग्रवाल नाम के एक डिजाइनर ने लिखा कि एक बार विद्या बालन को उन्होंने एक साड़ी गिफ्ट की थी, उसके बाद उनके पास भी अलग-अलग सेलेब्स के लिए सोर्सिंग की रिक्वेस्ट आने लगी थी। वहीं, कई यूजर्स ने सुरभि चांदना को टैग करके सवाल किया कि उन्हें ऐसा करने की ज़रूरत क्यों पड़ी।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.