दोषी पाए गए तो 20 साल जेल में रहेंगे Elvish Yadav, इन गंभीर धाराओं में FIR हुई है

एल्विश यादव के मामले में नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस अधिनियम की धारा 8, 20, 27 और 29 के कड़े प्रावधानों के तहत आरोप लगाए गए हैं।
elvish Yadav Arrested
elvish Yadav Arrestedwww.raftaar.in

नई दिल्ली रफ़्तार डेस्क। यूट्यूबर एल्विश यादव पर गंभीर धाराओं में केस दर्ज किया गया है। एल्विश का नाम रेव पार्टियों में जहरीले सांप की सप्लाई के मामले में सामने आया था। जिसके बाद लगातार एल्विश से पूछताछ करने के बाद अब नोएडा पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। एल्विश को 14 दिन की जुडीशियल कस्टडी में भेजा गया है।

एल्विश यादव पर कौन सी लगेंगी धाराएं

एल्विश यादव को सांप का जेहर और रेव पार्टी मामले में गिरफ्तार कर लिया है और रविवार को उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है। एल्विश यादव के खिलाफ रेव पार्टी में सांप का जहर मंगाने के मामले में वाइल्डलाइफ एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, एल्विश यादव ने माना है कि वो रेव पार्टी में सांप का जहर मंगवाते थे। इसके साथ ही इस मामले में नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंस अधिनियम की धारा 8, 20, 27 और 29 के कड़े प्रावधानों के तहत आरोप लगाए गए हैं। दोषी पाए जाने पर इन धाराओं के अनुसार एल्विश यादव को 20 साल तक की जेल होगी। इसके साथ ही वन्यजीव संरक्षण अधिनियम 1972 के साथ-साथ भारतीय दंड संहिता की धारा 120 बी, 284 और 289 भी शामिल हैं।

धाराएं

धारा 8 (सी) नारकोटिक ड्रग्स की बिक्री, खपत या खरीद पर प्रतिबंध लगाती है।

धारा 20 (बी) विशेष रूप से भांग के लिए उपयोग होती हैं, जिसमें बरामद मात्रा के आधार पर सजा अलग-अलग होती है।

धारा 27 के अनुसार, किसी भी दवा या साइकोट्रोपिक पदार्थ का सेवन करने की सजा अलग-अलग होती है।

धारा 27A अवैध व्यापार के अपराधियों को शरण देने के लिए सजा है। इसमें कहा गया है कि अवैध व्यापार के अपराधियों को शरण देने वालों को दस से बीस साल तक की कारावास के साथ ही एक से दो लाख रुपये तक का जुर्माना हो सकता है।

धारा 29 उकसाने और आपराधिक साजिश के लिए सजा से संबंधित है।

एल्विश यादव पर सापों की तस्करी और रेव पार्टी आरोप

एल्विश यादव पर अपनी पार्टियों में सांप के जहर का व्यपार करने और अपने वीडियो शूट में सांपों का इस्तेमाल करने का आरोप था। शिकायत के आधार पर ड्रग्स डिपार्टमेंट के अलावा वन विभाग और नोएडा पुलिस की टीम ने ये छापेमारी की थी। छापा मारकर पुलिस ने राहुल, टीटूनाथ, जयकरन, नारायण और रविनाथ नाम के आरोपियों को गिरफ्तार किया। एल्विश पर तस्करी से लेकर गैर कानूनी तरीके से रेव पार्टी आयोजित कराने का आरोप था। दर्ज एफआईआर के मुताबिक रेव पार्टी में न सिर्फ सांपों के जहर का इस्तेमाल होता था, बल्कि विदेशी लड़कियां भी बुलाई जाती। एल्विश इस मामले की शुरुआत से ही खुद को निर्दोष बताते आए हैं। हालांकि, गिरफ्तारी के बाद हुई पूछताछ में एल्विश ने कुबूल किया है कि वो पार्टियों में सांप के जहर की सप्लाई करते थे।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें- Hindi News Today: ताज़ा खबरें, Latest News in Hindi, हिन्दी समाचार, आज का राशिफल, Raftaar - रफ्तार

Related Stories

No stories found.