Lata Mangeshkar: स्वर कोकिला के सफेद साड़ी पहनने और सिंदूर लगाने के पीछे क्या थी वजह?

आज के दिन भारत की सुर कोकिला लता मंगेशकर ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया था। आज उनकी दूसरी पुण्‍यतिथि है और आज हम आप को उनके जीवन से जुड़ी कुछ खास बातें बताएंगे।
Jayanti of Lata Mangeshkar
Jayanti of Lata Mangeshkarwww.raftaar.in

नई दिल्ली रफ्तार डेस्क। आज 6 फरवरी का वो दिन है जब भारत ने अपने एक अनोखा रत्न को खो दिया। और ये वो दिन है जब भारत की सुर कोकिला लता मंगेशकर ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया। लेकिन आज भी हर व्यक्ति के दिनों में उनके लिए वहीं जगह और सम्मान है। लता जी ने अपने जीवन काल में 36 भारतीय भाषाओं में 30 हजार से ज्यादा गाने गाए है। लेकिन उनकी कहानिया, उनके गाने और उनसे जुड़े कई किस्से आज भी लोगों के बीच में सुने जाने शेष हैं।

लता मंगेशकर के जीवन से जुड़े कुछ अनोखे राज

लता दीदी के ज़िन्दगी से जुड़ी कई बातें ऐसी है जिनके विषय में लोग जानने के लिए उत्सुक रहते है। ऐसा ही एक सवाल है जिसकी जिज्ञासा हर व्यक्ति के मन में निरंतर बनी रहीं है। वह सवाल यह है कि लता दीदी कुंवारी होने के बाद भी सिंदूर क्यों लगाती थी? और हर समय वो सफेद साड़ी ही क्यों पहनती थी?, एक बात तो आप सभी जानते है कि लता मंगेशकर हमेशा से कुंवारी रही है। छोटे से लेकर बड़े होने तक उनका रिश्ता लोगों से कम और संगीत से ज्यादा रहा है। ऐसे ही किसी एक इंटरव्यू में जब लता मंगेशकर से मांग में सिंदूर लगाने का राज़ पूछा गया तो उनके जवाब ने interviewer को शांत कर दिया। लता दीदी ने सिंदूर वाले सवाल के जवाब में मुस्कुराते हुए कहा - संगीत मेरा सबकुछ है। संगीत नहीं तो मैं भी नहीं। और ये मांग में जो सिंदूर मैं भरती हूं न ... लोग कहते हैं कि ये पति परमेश्वर के नाम का होना चाहिए ...तो मेरे लिए पति और परमेश्वर, भगवान, गॉड सबकुछ जो कुछ भी है वो संगीत ही है। उसी के नाम का सिंदूर मैं अपनी मांग में भर्ती हूँ।

इस लिए सफेद साड़ी पहनती थी लता मंगेशकर

हम सब ने अक्सर उन्हें सफेद साड़ी में ही देखा हैं। क्योंकि लता मंगेशकर ज्‍यादातर समय में सफेद साड़ी ही पहनती थी। एक बार एक इंटरव्‍यू में उनसे ये सवाल किया गया कि वो ज्‍यादातर सफेद साड़ी ही क्‍यों पहनती हैं । इस पर लता जी ने कहा कि 'उन्‍हें बचपन से ही सफेद रंग काफी पसंद है। उन्‍होंने एक किस्‍सा बताते हुए कहा कि एक बार तेज बारिश हो रही थी और उन्‍हें रिकॉर्डिंग के लिए जाना था। उन्‍होंने पीले या ऑरेंज रंग की साड़ी पहन ली और वो स्‍टूडियो पहुंच गईं। स्‍टूडियो पहुंचने के बाद एक आर्टिस्‍ट ने उनसे पूछा कि ये आप क्‍या पहनकर आ गई हैं। इसके बाद उन्‍हें अहसास हुआ कि उनके व्‍यक्त्वि पर सफेद साड़ी ही जंचती है और लोग भी उन्‍हें उसी में देखना पसंद करते हैं।'

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.