पेशे से वकील थे फारूख शेख, बस 750 रुपये के लिए बन गए थे एक्टर

फारूख शेख अपनी एक्टिंग के लिए काफी मशहूर थे। उन्होंने वकालत किया था लेकिन बाद में बाॅलीवुड करियर को चुना था।
Farookh Sheikh
Farookh Sheikh Social Media

नई दिल्ली, रफ्तार डेस्क| फारूक शेख। ये नाम सुनकर किसी के जहन में पॉपुलर टॉक शो 'जीना इसी का नाम है' आता है तो कोई 'चश्मे बद्दूर' को याद करता है। 90s में केबल टीवी का सुख पाने वाले 'बच्चे' उन्हें 'चमत्कार' के लिए याद करते हैं, वहीं 2000 के बाद होश संभालने वाले उन्हें 'ये जवानी है दीवानी' के अंडर्स्टैंडिंग पापा के रूप में याद करते हैं। हर किसी की ज़िंदगी में एक अलग छाप छोड़ने वाले फारूक शेख की बर्थ एनिवर्सरी 25 मार्च को होती है।

फारूख शेख ने गर्म हवा फिल्म के साथ करियर की शुरुआत की। जिसको कैफी आजमी और शौकत आजमी ने लिखा था। उनको फिल्म में 750 रुपये देने का वादा किया गया था लेकिन ये अमाउंट उनके 20 साल पहले अदा किया गया था।

'शख्सियत' शो में शेयर की खास बात

फारूख शेख का शो 'शख्सियत' काफी चर्चित था। जो राज्यसभा टीवी पर प्रसारित होता था। उन्होंने शो में बताया था कि " वकालत की पढ़ाई कर चुका हूं। मेरे पिता भी वकील थे। काॅलेज के टाइम में मैंने एक्टर की भूमिका भी निभाया था। उस दौरान एम एस सथ्यु एक फिल्म 'गर्म हवा' बना रहे थे। वे चाहते थे कि ऐसे लोगों को, जो पैसा के लिए नहीं बल्कि अच्छे काम में महिर हो"।

गर्म हवा फिल्म है काफी मशहूर

1973 की फिल्म 'गर्म हवा' सर्वश्रेष्ठ विदेशी भाषा फिल्म श्रेणी में अकादमी पुरस्कार के लिए भारत की प्रस्तुति में शामिल हुई थी। इसे राष्ट्रीय एकता पर सर्वश्रेष्ठ फीचर फिल्म के लिए नरगिस दत्त पुरस्कार भी दिया गया था। यह फिल्म भारत के 1947 के विभाजन के बाद की अवधि में एक उत्तर भारतीय मुस्लिम व्यापारी और उसके परिवार की दुर्दशा पर आधारित थी।

अन्य खबरों के लिए क्लिक करें- https://www.raftaar.in/

Related Stories

No stories found.