mp-the-desire-to-serve-black-deer-meat-in-the-feast-became-the-reason-for-the-guna-scandal
mp-the-desire-to-serve-black-deer-meat-in-the-feast-became-the-reason-for-the-guna-scandal

मप्र : दावत में काले हिरण का मांस परोसने की चाहत बनी गुना कांड की वजह

भोपाल, 15 मई (आईएएनएस)। शादी समारोह में लोग अपनी ताकत और संपन्नता का प्रदर्शन करते हैं, गुना के राघोगढ़ इलाके के नौशाद और शहजाद भी ऐसा ही कुछ करना चाहते थे, इसके लिए उन्होंने अपने परिवार की बेटी की शादी में बारातियों के स्वागत में काले हिरण का मांस परोसने का ख्वाब संजोया और यही उनका ख्वाब गुना कांड की वजह बन गया। गुना के आरोन के जंगल में शुक्रवार और शनिवार की दरम्यानी रात जो घटना घटित हुई, उसने अपराधियों के बढ़ते दुस्साहस की कहानी बयां कर दी है। यहां के नौशाद और शहजाद के परिवार में बेटी की शादी थी, ये दोनों बारात में आने वाले बारातियों के लिए काले हिरण का मांस पर परोसना चाहते थे। इसके लिए उन्होंने चार काले हिरण, एक मादा हिरण और एक मोर का शिकार किया था। पुलिस दल की सर्चिग के दौरान उनका सामना हो गया। शहजाद और नौशाद के अलावा उनके साथियों ने पुलिस बल पर गोली चला दी, जिसमें तीन पुलिस जवान शहीद हो गए। पुलिस जवानों की शहादत के बाद आरोपियों की तलाश शुरू की गई, तब पता चला कि एक आरोपी तो पुलिस से हुई मुठभेड़ के दौरान पहले ही मारा जा चुका था, तो वहीं दूसरा पुलिस से हुई मुठभेड़ में बाद में मारा गया। इस तरह नौशाद व शहजाद पुलिस मुठभेड़ में मारे गए। नौशाद और शहजाद के पिता का कहना है कि उसके दोनों बेटे बारातियों के लिए काले हिरण का मांस परोसना चाहते थे, मगर वे खुद इनके शिकार के पक्ष में नहीं थे। यही कारण था कि उन्होंने दोनों बेटों से कहा था कि निकाह में मुर्गे की दावत दे देंगे, बेटों से कहा था हिरण को मारने मत जाओ, मगर दोनों बेटे नहीं माने और अपनी लाइसेंसी बंदूक लेकर जंगल में चले गए। इस पर बाप-बेटी के बीच बहस भी हुई थी। पुलिस जवानों की शहादत के बाद से सरकार और पुलिस महकमे ने आरोपियों के खिलाफ अभियान चला रखा है। दो आरोपी पुलिस की गिरफ्त में आ चुके हैं, दो मुठभेड़ में मारे जा चुके हैं और चार अब भी फरार बताए जा रहे हैं। --आईएएनएस एसएनपी/एसजीके

Related Stories

No stories found.