एफएसएल रिपोर्ट ने लखीमपुर खीरी हिंसा में आशीष मिश्रा की बंदूक से चलाई गई गोलियों की पुष्टि की

fsl-report-confirms-ashish-mishra39s-gunshots-in-lakhimpur-kheri-violence
fsl-report-confirms-ashish-mishra39s-gunshots-in-lakhimpur-kheri-violence

लखीमपुर खीरी (उत्तर प्रदेश), 9 नवंबर (आईएएनएस)। केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा की मुसीबत और बढ़ सकती है, क्योंकि फॉरेंसिक साइंस लैबोरेटरी ने पुष्टि की है कि 3 अक्टूबर को लखीमपुर खीरी हिंसा के दौरान आरोपी अंकित दास और आशीष मिश्रा की लाइसेंसी बंदूकों से गोलियां चलाई गई थीं। लखीमपुर पुलिस ने आशीष मिश्रा और अंकित दास के लाइसेंसी हथियार जब्त किए थे। सभी हथियारों को 15 अक्टूबर को फोरेंसिक जांच के लिए भेजा गया था, जिसकी रिपोर्ट मंगलवार को आई। किसानों का आरोप था कि आशीष और अंकित ने हिंसा के दौरान कई राउंड फायरिंग की थी। हालांकि दोनों ने इससे इनकार किया था। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की लखीमपुर खीरी यात्रा के विरोध में 3 अक्टूबर को हुई हिंसा में आठ लोग मारे गए थे। भाजपा कार्यकर्ताओं को ले जा रही कार ने चार किसानों और एक पत्रकार को टक्कर मार दी। किसानों की मौत के मामले में गिरफ्तार किए गए 13 लोगों में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा भी शामिल हैं। --आईएएनएस आरएचए/एएनएम

Related Stories

No stories found.