Womens Day 2024 : महिलाएं हेल्थ इंश्योरेंस के प्रति ज्यादा जागरूक, सबसे अधिक इस उम्र की पॉलिसीधारक

Women Health Insurance : हेल्थ इंश्योरेंस के प्रति महिलाओं में विशेष जागरुकता दिख रही है। एक सर्वे के अनुसार महिलाओं द्वारा हेल्थ इंश्योरेंस खरीदने की संख्या में 40 प्रतिशत की ग्रोथ है।
हेल्थ इंश्योरेंस को लेकर महिलाओं में जागरुकता।
हेल्थ इंश्योरेंस को लेकर महिलाओं में जागरुकता।रफ्तार।

नई दिल्ली, रफ्तार। हेल्थ इंश्योरेंस के प्रति महिलाओं में विशेष जागरुकता दिख रही है। एक सर्वे के अनुसार महिलाओं द्वारा हेल्थ इंश्योरेंस खरीदने की संख्या में 40 प्रतिशत की ग्रोथ है। वित्तीय वर्ष 2023 के मुकाबले वित्तीय वर्ष 2024 में यह ग्रोथ दिखी है। 23 हजार से अधिक महिलाओं की हेल्थ इंश्योरेंस के प्रति रुचि को जानने के लिए किए गए सर्वे के अनुसार अपने लिए स्टैंड अलोन कवरेज खरीदने वाली महिलाओं की संख्या में पिछले साल की तुलना में 43% बढ़ोतरी है।

हाई कवरेज को दे रहीं प्रायोरिटी

हेल्थ इंश्योरेंस में महिलाएं अब हाई कवरेज को भी प्रायोरिटी में दे रही हैं। सर्वे में पता चला है कि महिलाएं पॉलिसी के तहत ज्यादा कवरेज चुन रही हैं। आंकड़ों के अनुसार 25 लाख रुपये से अधिक का कवरेज चुनने वाली महिलाएं 15% से बढ़कर 24% हो गई हैं। 25 लाख से कम बीमा राशि चुनने वाली महिलाओं की संख्या में 7% की गिरावट आई है।

पॉलिसी खरीदारों की उम्र

सर्वे में सामने आया कि 40 से कम उम्र के पॉलिसीधारकों की संख्या 47% से बढ़कर 52% हुई है। 25 वर्ष से कम आयु वालों में 22% की वृद्धि, 26 से 35 आयु में 9.8% और 41-50 आयु वर्ग में 11.7% की बढ़ोतरी है। हालांकि, हेल्थ इंश्योरेंस खरीदने वाली बुजुर्ग महिलाओं की संख्या में गिरावट दर्ज की गई है। 51-60 आयु वर्ग में पॉलिसीधारकों की हिस्सेदारी 20% से गिरकर 17% और 60+ आयु वर्ग में 17% से गिरकर 13% हुई है।

इनोवेटिव और कस्टमाइज्ड प्रोडक्ट ने बहुज कुछ बदला

सर्वे में बताया है कि मैटरनिटी इंश्योरेंस, इंश्योरेंस इकोसिस्टम के अंदर पेश की गई नई अवधारणा है, जो 31% की वृद्धि के साथ महिलाओं के बीच गति पकड़ी है। इसका श्रेय हाल में लांच इनोवेटिव और कस्टमाइज्ड प्रोडक्ट्स को दिया जा सकता है। वहीं, क्रिटिकल इलनेस कवर खरीदने वाली महिलाएं 20% बढ़ी हैं। क्लेम फाइल करने वाली महिलाओं की हिस्सेदारी में भी 25% की वृद्धि है।

खबरों के लिए क्लिक करें:- www.raftaar.in

Related Stories

No stories found.